PATRIKA : LEADING HINDI NEWS PORTAL - VARANASI - APR TUE 07 2020 #BHARATPAGES BHARATPAGES.IN

Patrika : Leading Hindi News Portal - Varanasi

http://api.patrika.com/rss/varanasi-news 👁 155763

भाजपा का झंडा लगी स्कॉर्पियो से कर रहे थे शराब की तस्करी, पुलिस ने किया गिरफ्तार


वाराणसी. देश में कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच बनारस पुलिस ने मंगलवार को चार शराब तस्करों को धर दबोचा। ये लोग भाजपा का झंडा लगी सफेद स्कॉर्पियो गाड़ी से पांच लाख की शराब तस्करी करने के लिए गैर जनपद ले जा रहे थे। पुलिस इनके खिलाफ केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

जिले के चौबेपुर पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि ग्राम सीवो में एक मकान के सामने सफेद स्कार्पियो खड़ी है जिसमें अवैध शराब भरी है। मिली जानकारी के बाद थानाध्यक्ष चौबेपुर पुलिस बल के साथ पहुँचे तो मकान के सामने सफेद स्कार्पियो खड़ी दिखाई दी। पुलिस की गाड़ी देखते ही मकान का चैनल अन्दर से कुछ लोग बन्द करने लगे। पुलिस ने जब चैनल का गेट खोलकर देखा तो चार व्यक्ति मिले, जिन्हें मौके से पकड़ लिया गया। ये सभी अंदर शराब की सप्लाई के खेल की तैयारी कर रहे थे।

पुलिस ने जब स्कार्पियों की तलाशी ली तो उसमें से 91 पेटी क्वाटर व 25 शीशी अंग्रेजी शराब में से 4 शीशी क्वार्टर अवैध अंग्रेजी शराब बरामद हुआ। जिसका बाजार में अनुमानतः 5 लाख मूल्य बताया जा रहा है। पुलिस ने संजीव कुमार, पवन तिवारी, कौशल मिश्रा उर्फ धुनमुन मिश्रा और विष्णु कुमार राजभर को गिरफ्तार कर लिया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/liqor-smuggling-with-bjp-flag-car-5978521/

लॉकडाउन : इस बार संकट मोचन हनुमान को अर्पित होगी डिजिटल संगीतांजली, घरों में ही पूजा कर भक्त मनाएंगे जंयन्ती


वाराणसी. समूचे ब्रह्माड को संकट से निजात दिलाने वाले संकट मोचन हनुमान की जयंती इस बार 8 अप्रैल को भक्त घर से ही मनाएंगे। हृदय के अंतर्भाव से भगवान शंकर के प्रतिरूप श्री हनुमान जी को काशीवासी नमन करेंगे कोरोना वायरस के बढ़े खतरे के बीच सालों से उत्सव जैसा रहने वाला यहां का परिसर महज दो चार लोगों के साथ प्रभू की भक्ति में लीन होगा। संकटमोचन मंदिर में पूजन-अर्चन विधि विधान से परंपरागत रूप से ही होगा, रामचरित मानस का पाठ भी होगा पर व्यास जी इस बार हनुमान जी को ही कथा सुनाएंगे।

किसी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश नहीं

संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो विश्वंभरनाथ मिश्र ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में बताया कि श्री हनुमत जयंती चैत्र सुदी पूर्णिमा 15 (बुधवार) सम्वत 2077 यानि 8 अप्रैल 2020 को मनाया जाएगा। प्रातः 6 बजे से 8 बजे तक श्री हनुमान जी महाराज का पूजन-अर्चन और बैठकी की झांकी सजाई जाएगी। प्रातः 7 बजे से रामायण जी का पूजन - अर्चन और मानस जी का एकाह पाठ, रामार्चा पूजन आदि धार्मिक अनुष्ठान पूर्व की भांति होंगे। लेकिन महामारी के चलते लॉकडाउन की प्रक्रिया चल रही है, ऐसे में मंदिर परिसर में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश नहीं पायेगा।

संकट से उबारेंगे हनुमान

मन्दिर के महंत ने कहा की हनुमान जी महराज का नाम संतशिरोमाणि गोस्वामी तुलसीदास जी महाराज ने संकटमोचन रखा और कलिकाल के सबसे प्रतापी देव जिनको भगवती सीता महरानी का वरदान भी प्राप्त है वह सक्षम भी है हम सबको इस त्रासदी से उबारने में। बस उनको याद दिलाना पड़ता है। इसके लिए हम सब इस बार हनुमान जयंती को विशेष प्रार्थना भी करेंगे ताकि विश्व इस संकट से उबरे।

इस बार डिजिटल संगीत समारोह

बतादें की हनुमान जी की जयन्ती के उपलक्ष में हर साल छह दिवसीय संगीत समारोह किया जाता है। जिसमें देश विदेश के प्रख्यात कलाकार आकर बाबा को अपनी स्वरांजलि अर्पित करते हैं। लेकिन इस बार कोरोना की वजह से इसमें बदलाव कर लिया गया है। इस बार कुछ बड़े कला साधक अपनी संगीतांजलि 12 से 17 अप्रैल तक तक नियमित रूप से सायं 7:30 बजे से हनुमान जी महाराज को डिजिटल माध्यम से श्रवण कराएंगे। इसके लिए पंडित जसराज, राशिद खां समेत 20 कलासाधकों ने अपनी स्वीकृति दे दी है। इस कार्यक्रम का लिंक भक्तों को दे दिया जाएगा ताकि वो घर बैठे संगीत समारोह को देख सकें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/mahavir-jayanti-celebration-hanuman-puja-on-home-in-lockdown-5976873/

शहर में खुलेआम घूमने और ससुराल में धाक जमाने के लिए पहनता था पुलिस की वर्दी, ऐसे हुआ गिरफ्तार


वाराणसी. जिले के चोलापुर थाना इलाके के रहने वाले एक ऐसे युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जो ससुरालियों पर रौब झाड़ने के लिए और शहर में खुलेआम घूमने के लिए पुलिस की खाकी वर्दी पहनकर घूमता था। शक के आधार पर पुलिस ने पूछताछ की तो सारा भेद खुल गया। युवक के खिलाफ सारनाथ थाने में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।

सारनाथ के इंस्पेक्टर विजय बहादुर सिंह सोमवार की रात गश्त पर निकले थे। रजनहिया इलाके में वह थे की इसी समय एक युवक बाइक लिए खाकी वर्दी में दिख गया। इंस्पेक्टर विजय ने देखा की खाकी वर्दी में खड़ा ये युवक अभी ठंड के कपड़े वाली खाकी पहने हुआ है। जबकि इस सीजन में तो पुलिस गर्मी की खाकी पहनती है। उन्हें सन्देह हुआ, ऐसे में तुरंत इन्स्पेक्टर विजय ने उसे वहां पकड़वा लिया और पूछताछ शुरू कर दी।

पूछताछ के दौरान युवक ने बताया कि उसकी ससुराल इसी इलाके में है। बीते छह माह से वह जब कभी ससुराल आता था तो रौब झाड़ने के लिए सिपाही की वर्दी पहने रहता था। इधर जब से लॉकडाउन घोषित हुआ है तो सिपाही की वर्दी पहन कर वह आसानी से भी पहुंच जाता है। हालांकि उसने ये भी बताया कि उसे यह नहीं पता था कि पुलिस ठंडी और गर्मी के दिनों में अलग-अलग कपड़े की वर्दी पहनती है। आज यानी मंगलवार को युवक को कोर्ट में पेश किया जाएगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/man-wear-fake-police-uniform-arrested-in-varanasi-5976395/

पुलिस टीम पर हमले के बाद लूट ली थी टीयर गैस गन, दो को गिरफ्तार कर भेजा जेल


वाराणसी. जिले के फूलपुर थाना इलाके के रामपुर में दो गुटों के बीच लड़ाई के वाद उपजे विवाद में पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर टीयर गैस गन लूटकांड के दोनों आरोपियों को पुलिस ने सोमवार को देर शाम को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से गन भी बरामद की गई। दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। घटना के बाद से ही दोनों छिपते-फिरते भाग रहे थे। पुलिस को यह सफलता मुखबिर की सूचना पर तब मिली जब वह शहर छोड़कर भागने की फिराक में थे।

फूलपुर पुलिस को सूचना मिली थी कि टीयर गैस गन लूट में शामिल मुन्नु मुसहर व राजकुमार मुसहर अपने घर से दक्षिण बनारसी गुप्ता की बन्द दुकान पर बैठे हुए हैं और दोनों निर्माणाधीन हाईवे की तरफ भागने की तैयारी में है। सूचना पर पहुंची पुलिस को देख दोनों भागने लगे, पुलिस बल ने घेराबंदी कर दोनों व्यक्तियों को पकड़ लिया। दोनों की निशानदेही पर डिंगूर के घर से सरसों के डंठल हटाकर एक प्लास्टिक की बोरी में रखी टियर गैस गन बरामद हुई। पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

क्या था पूरा मामला

रामपुर में क्षत्रिय बस्ती और मुसहर बस्ती के बच्चों के बीच शनिवार की देर शाम किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। आरोप है कि क्षत्रियों ने मुसहर पक्ष के लोगों को पहले धमकाया फिर मारा पीटा। देर शाम पीड़ित पक्ष थाने में जा पहुंचा और क्षत्रियों के खिलाफ थाने में शिकायती पत्र दिया। विवाद निपटाने पहुंची पुलिस टीम पर आक्रोशित मुसहर समुदाय के लोगों ने हमला बोल दिया था। जिसमे इन्स्पेक्टर के सिर में गम्भीर चोट आई, साथ ही कांस्टेबल आनंद सिंह के पैर में भी गम्भीर चोट लगी थी। जिनका इलाज कराया गया। हमले में शामिल दो लोगों ने पुलिस से टियर गैस गन भी लूट लिया था। जिसे पुलिस ने अब बरामद किया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/police-arrested-criminals-in-varanasi-5976391/

बनारस को खूब सता रही चाय चाट और घाट की याद


लखनऊ. लॉकडाउन धीरे-धीरे दो सप्ताह का सफर तय कर चुका है। बनारस के लोग अपने शहर को खूब याद कर रहे है। काशी का अल्हड़पन, पूजा पाठ, कचौड़ी जलेबी, पान, लस्सी, चाय, चाट और घाट बनारसियों को याद आ रहा है। कोई फेसबुक तो कोई फोन पर अपनों को कह रहा है 'का गुरू कुल सपना जइसन होई गा हौ।'

न जाने कब देखूंगा घाट की सुबह

पत्रिका से बातचीत में राम नारायण त्रिपाठी कहते हैं की इतने ही दिनों में लगने लगा है जैसे बनारस की सुबह देखे सालों बीत गए हैं। वो घाट की सीढ़ियों पर सुबह का टहलना। साथियों के बीच ठिठोली, मन को पुलकित कर देने वाली सूर्य की लालिमा, सुबह के हवाओ की ताजगी, जैसे सब कुछ कोई छीन ले गया हो। त्रिपाठी कहते है की बनारस जैसी सुबह कहीं और नही हो सकती। काशी की दिव्यता अद्भुत है हमें इंतज़ार है जल्द कोरोना के संकट से प्रभू बाहर निकालें।

जैसे बुला रहा है कचौड़ी जलेबी की स्वाद

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के रिसर्च स्कॉलर डॉ. जावेद अहमद कहते हैं की बनारस की कचौड़ी -सब्जी और जलेबी का स्वाद लाजवाब होता है। जावेद कहते हैं हमारी तो बचपन से आदत है, दिन में एक बार खा न लें तो जैसे मिजाज ही नहीं बनता। पर अब कई दिन हो गए हैं बस ऐसा लग रहा जैसे शंम्भू और श्रीराम की दुकान बुला रही है।

चाय नहीं जैसे सालों का इश्क छूट गया हो

जीवन के सात दशक पार कर चुके राम नवल पांडेय कहते है की बनारस में एक कहावत है, 'मैं तुम्हें कुल्हड़ वाली चाय पिला सकता हूं, जुगनू, चांद, सितारे ये सब झूठी बातें हैं। राम नवल बताते हैं कि बनारस की कुल्हड़ वाली चाय औऱ कुल्हड़ वाली चाट दोनों का कोई मुकाबला नहीं है। दीना चाट, काशी चाट, पप्पू की अड़ी ये सब लॉकडाउन मे छूटा है लग रहा जैसे सालों का इश्क छूट गया हो।

करोड़ों में कारोबार प्रभावित

व्यापार मंडल वाराणसी के नेता अखिलेश सिंह कहते हैं बनारस पूरे पूर्वांचल का हृदय है। यहां से ही सभी जिलों का कारोबार है। सब्जी, लोहा, मेवा, मसाला, कपड़ा, धागा, खाद्य सामग्री, फलों की मंडियां हैं। इस लॉकडाउन ने बाजार को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया है। हर रोज करोड़ों का कारोबार जा रहा है। पर्यटक आने वाले दिनों में भी दूर रहेगा जो बनारस के लिए प्रमुख है। ऐसे में अभी लंबे समय तक हमें इंतज़ार करना होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/famous-foods-of-varanasi-that-people-are-unable-to-relish-in-lockdown-5976105/

52 हज़ार से अधिक लोगों की हुई थर्मल स्कैनिंग, बनारस के चार इलाके रेड जोन में


वाराणसी. कोरोना के बढ़ते खतरे और लॉकडाउन के बीच बनारस प्रशासन ने अब तक 52 हज़ार से अधिक लोगों की थर्मल स्कैनिंग पूरी कर ली है। इसमें कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों का इलाज किया गया जिसमें से दो व्यक्ति ठीक हो गए। वहीं एक 55 वर्षीय युवक की मौत हो गई है। शहर के चार इलाकों को रेड जोन घोषित किया गया है। बनारस प्रशासन का मानाना है कि जिन 105 संदिग्धों की रिपोर्ट आने है, अगर उसमे संख्या सामान्य रही तो मुश्किल नहीं होगी। लेकिन संख्या बढ़ती है तो और मेहनत करने कर जरूरत होगी। लॉकडाउन के अभी एक सप्ताह शेष बचे हैं। ऐसे में प्रशासन कोरोना के खतरे को रोकने में दिन रात जुटा है।

रेड जोन से लिये गए सबसे अधिक नमूने

माइक्रोबायोलाजी विभाग बीएचयू में अब तक कुल 301 नमूने जांच के लिए भेजे गये है। जिसमें 41 नमूने लोहता, मदनपुरा से तथा 39 गंगापुर, बजरडीहा से लिये गये है। ये चारों ही इलाके ऐसे हैं जिसे प्रशासन ने रेड जोन घोषित किया है। अब तक की बात करें तो 189 नमूने निगेटिव पाए गए है, 105 नमूनों के परिणाम आने बाकी हैं। दो स्वस्थ एक मौत के अलावा चार का इलाज किया जा रहा है।

किसी भी तरह की न रह जाये कमी

संदिग्ध मरीजों के लिये दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में आठ-आठ घण्टों के तीन सिफ्ट में 24 घण्टे ओपीडी चलाई जा रही है। जिसमें जांच एवं परामर्श दिये जा रहे हैं। जनपद के अन्य राजकीय चिकित्सालयों में फ्लू के लिये अलग से कक्ष और कार्नर स्थापित करते हुए अलग से ओपीडी चलाई जा रही है। अग्नि शमन विभाग के पांच वाहनों द्वारा शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सेनेटाइजेशन का कार्य किया गया। स्वास्थ्य विभाग ने 11 स्थानों पर एण्टीलार्वा स्प्रे, 30 स्थानों पर सोडियम हाइपोक्लोराइड स्प्रे तथा तीन स्थान पर फॉगिंग करायी है। सार्वजनिक स्थानों, चौराहों पर माईकिंग द्वारा जन सामान्य को क्या करें-क्या ना करें की जानकारी दी जा रही है।

अब 52 हज़ार के पार की गई थर्मल स्कैनिंग

सोमवार को 1862 व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग की गयी। बाबतपुर एयरपोर्ट पर अब तक 16786, रेलवे स्टेशन पर 16200, होटल, लॉज, मठों आश्रमों में रूके 1352 विदेशी यात्रियों सहित कुल 52672 व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग की गयी। ग्रामीण क्षेत्र तथा शहरी क्षेत्र से 1488 व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन किया गया। अब तक जनपद में कुल 17099 व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन किया गया है। अब तक कुल 250 संदिग्ध व्यक्ति भर्ती हुये है। अब तक कुल 199 व्यक्ति डिस्चार्ज हुये है। इन दोनों चिकित्सालयों में वर्तमान में 51 व्यक्ति भर्ती हैं।

ग्रामीण इलाकों पर भी फोकस

ग्रामीण क्षेत्रों में भी एण्टी लार्वा स्प्रे एवं ब्लीचिंग छिड़काव के साथ-साथ आशा एवं एएनएम द्वारा क्या करें -क्या न करें की जानकारी दी गयी है। स्वास्थ्य केन्द्रों के साथ नगर निगम, पंचायत विभाग, एवं नागरिक सुरक्षा विभाग इत्यादि विभागों द्वारा जनसामान्य को आवश्यक जानकारी एवं सहायता प्रदान की जा रही है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/four-areas-of-varanasi-in-red-zone-alert-5975880/

कर्फ्यू से कम नहीं है बनारस के इन इलाकों में सख्ती, घरों के सामने लगा दिए बैरियर, सामान खरीदने के लिए मिलते हैं सिर्फ आधे घण्टे


वाराणसी. कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आने से गंगापुर के एक बुजुर्ग की मौत और लगातार दो दिन पॉजिटिव केस सामने आने के बाद प्रशासन पूरी तरह सख्त है। सोमवार को जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने जनपद के गंगापुर, लोहता, बजरडीहा व मदनपुरा इलाके को रेडजोन में तब्दील कर दिया है।

72 घंटे के लिए इन क्षेत्रों में की गई सीलिंग कार्रवाई के संबंध में डीएम ने बताया कि इनमे जमात से होकर आए 02 लोग मुरादाबाद मदरसे से पढ़ कर आये 01 व बजरडीहा की एक महिला के पॉजिटिव पाए जाने के साथ ही गंगापुर में कोरोना पॉजिटिव से एक व्यक्ति की मृत्यु होने पर इन चारों क्षेत्रों में पूर्व से ही लागू लॉकडाउन को और अपग्रेड करते हुए सील कर दिया गया है । उन्होंने बताया कि इन क्षेत्रों को रेडजोन बनाकर बांस-बल्ली लगाकर बैरिकेडिंग कर दी गई है।

कैसे मिल रही सामग्री

लोगों का घरों से निकलना बंद है। साथ ही बाहर से भी लोगों का प्रवेश पूरी तरह निषिद्ध किया गया है। आधा घंटा सुबह और शाम ढील दी जा रही है। ताकि लोग अपनी रोजमर्रा की आवश्यकता के अनुसार सामान ले सकें। सब्जी, आवश्यक वस्तु एवं दूध आदि का ठेला इन क्षेत्र में लगे बैरियर तक जाते हैं। अपने-अपने घरों से लोग एक-एक कर आकर सामान खरीदते हैं और पुनः अपने घरों में चले जाते हैं।

एक एक परिवार की हो रही स्कैनिंग

जिलाधिकारी ने बताया कि यहां पर केवल हेल्थ की टीम पूरे प्रोटेक्टिव केयर में जाती है। एक-एक परिवार को घरों से बाहर निकाल कर सड़क पर उनका स्कैनिंग करती है। कोरोना पॉजिटिव परिवारों का वहीं पर सैंपलिंग भी करके पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय भेजा जाता हैं। उन्होंने रिपोर्ट आने के बाद आगे देखा जाएगा। जिलाधिकारी ने अपील की है कि जो क्षेत्र संक्रमित है वहां लोग अपने-अपने घरों में ही रहे। घरों से बाहर न निकलने पाए। इन गतिविधियों एवं गलियों पर नजर रखने के लिए पुलिस द्वारा ड्रोन का भी प्रयोग किया जा रहा है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/strictness-in-these-areas-of-benaras-is-not-less-than-curfew-5973473/

आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीज नर्स से कर रहा था अभद्रता, डीएम ने भेजा जेल


वाराणसी. जिले में भी कई अन्य जगहों की तरह बनारस आईशोलेशन वार्ड में भर्ती एक मरीज द्वारा अव्यवस्था फैलाने और अभद्रता करने का मामला सामने आया है। डीएम के सामने भी जब उसने ऐसी हरकत की तो उसे जेल के सलाखों के पीछे भेज दिया गया। शहर के मच्छोदरी निवासी एक कुछ दिन पहले आबूधाबी से अपने घर आया था। बाहर से आने के कारण प्रशासन ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से इसे दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में आईशोलेट किया था।

युवक पर आरोप था की वो अक्सर किसी न किसी बात को लेकर नर्सों से अभद्र व्यवहार करता था साथ ही हर समय व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश करता था। उसके ऐसा करने पर अस्पलाल के अन्य लोग भी वहां आकर जमा हो जाते थे जिसे सम्भालना मुश्किल होता था। इसी समय एसएसपी प्रभाकर चौधरी डीएम कौशल राज शर्मा व कमिश्नर दीपक अग्रवाल रविवार की देर शाम दीनदयाल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करने पहुंचे तो नर्सों ने इस बात की शिकायत डीएम से कर दिया। जानकारी के बाद जिलाधिकारी खुद उसे समझाने के लिये उसके वार्ड में चले गये।

डीएम ने सभी को समझाना शुरू किया। सोशल डिस्टनसिंग आदि की जानकारी दी इसी समय अबूधाबी से आया मच्छोदरी निवासी युवक उनसे उलझ गया और बहस करने लगा। पहले उसे समझाने की कोशिश की गई लेकिन वह शांत नहीं हुआ तो डीएम ने इंस्पेक्टर कैंट को उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सेंट्रल जेल भेजने का निर्देश दिया। डीएम के आदेश के बाद आगे की कार्रवाई की गई।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/patient-admitted-in-isolation-ward-committed-indecency-with-nurse-5973250/

लॉकडाउन बना मज़ाक़, कोतवाली पुलिस ने खुलवा दी चाय की दुकान


जौनपुर. जिस पर ज़िम्मेदारी थी जनता से लॉकडाउन का पालन करवाने की, उसी कोतवाली पुलिस ने उसका मज़ाक़ बना दिया। रविवार शाम तलब लगी तो कोतवाली चौराहे पर पुुलिस वालों ने एक चाय की दुकान खोलवा दी। वहां चाय बनवाई गई फिर कई पुलिस वाले मेला लगाकर चाय पीते रहे।

varanasi chai

पूरे जिले में जनता से लॉकडाउन का पालन कराया जा रहा है। जो नहीं मान रहा उस पर लाठियां भी खूब बरस रही हैं। दवा की दुकान सहित शर्तों के साथ कुछ और ज़रूरी दुकानें खोलने के आदेश हुए हुए हैं। भीड़ न लगे इसके लिए लॉकडाउन से पहले ही चाय की दुकान बंद करा दी गई थीं। लेकिन पुलिस को लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग से कोई सरोकार नहीं है। इसका जीता जागता उदाहरण तब मिला जब रविवार शाम पुलिस वाले कोतवाली चौराहे पर मौजूद एक चाय की दुकान पर पहुंच गए। चाय वाले को कहीं से पकड़ कर लाया गया। फिर उससे दुकान खोलवाई गई। चाय बनाने से संबंधित समान इकठ्ठा करने के बाद सभी ने चाय बनवाई। फिर वहीं मेला लगाकर चाय की चुस्की लेने लगे। यहां से चाय बना कर कोतवाली के भीतर भी भेजी गई।

लॉकडाउन है, इसलिए डीएम घर से लेकर चलते हैं चाय

ज़िलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह भले ही लॉकडाउन का पालन कर मिसाल पेश कर रहे हों, लेकिन पुलिस विभाग ने उनके नक्शे कदम पर न चलने की ठान ली है। दरअसल लगातार काम करने के लिए डीएम खुद घर से चाय बनवाकर साथ रख लेते हैं। उनको पता है कि लॉकडाउन में दुकानें बंद रहेंगी। चाय की जरूरत को पूरा करने के लिए पहले से ही व्यवस्था दुरुस्त कर घर से निकलते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/tea-stall-opened-in-lockdown-period-5972451/

कोविड-19 से जुड़े 93 रिपोर्ट बनारस प्रशासन के लिए हैं अहम, 14 नए संदिग्धों को किया गया क्वारंटाइन


वाराणसी. कोरोना महामारी से निपटने के लिए बनारस प्रशासन पूरी सक्रियता से काम कर रहा है। अब तक जिले में सात कोरोना के पॉजिटिव केस सामने आए जिसमें से एक मरीज के स्वस्थ हो जाने के बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया है, तो वहीं एक की मौत भी भी हो चुकी है। अब भी पांच मरीज़ों का इलाज किया जा रहा है। अब आलाधिकारियों की नजर उन 93 कोरोना के संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट पर है।

अगर इन टेस्ट में संक्रमित मरीजों की संख्या अधिक न हुई तो सभी के लिए राहत की बात होगी। वहीं सवास्थ्य वजबाग ने जानकारी दिया है की रविवार को भी 14 नए संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन वार्ड व मेडिकल क्वारंटाइन में आब्जर्वेशन पर रखा गया है।

सात नमूने पॉजिटिव

बता दें की आइएमएस-बीएचयू स्थित माइक्रोबॉयोलाजी विभाग के लैब में अब तक कुल 259 सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। 159 नमूने निगेटिव व सात कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इनमें से एक निगेटिव आया है, उसे छुट्टी मिल गई है। एक की मौत हो चुकी है। जबकि 93 की रिपोर्ट का इंतजार है।

इन चार इलाकों में हो रही गहन निगरानी

जिलाधिकारी ने बताया है की बजरडीहा क्षेत्र में कोरोना मरीज के घर व आस-पास के 13 घरों सहित गलियों में सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव कर सैनिटाइज किया गया। यह मरीज 16 मार्च को दुबई से बनारस लौटी है। दो दिन पहले जांच में कोरोना की पुष्टि हुई थी। यहां 305 लोगों की थर्मल स्कैनिंग की गई, जिसके बाद 52 लोगों को होम क्वारंटाइन करते हुए घरों से बाहर न निकलने का निर्देश दिया गया है।
वहीं जिस इलाके के मरीज की तीन अप्रैल को कोरोना से मौत हुई है, उस गंगापुर के तीन वार्डो के 120 घरों एवं उसके आस-पास भी सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव किया गया और फॉगिंग कराई गई।

प्रशासन की ओर से पॉजिटिव मरीज के घरों के आस-पास बैरिकेडिंग भी की गई है। लगातार लोगों से घरों मेम रहने की अपील की जा रही है। बनारस बहुत सघन बसावट वाला शहर है। ऐसे में सारे अधिकारी जस बात को लेकर सजग हैं किसी नही हाल में इस बढ़ते खतरे को जल्द रोका का सके।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/14-new-cases-in-varanasi-suspected-people-quarantined-5972271/

कोरोना से मौत, हरिश्चंद्र घाट पर डोमों ने नहीं दी आग, कहा धुएं से हमें भी हो जाएगा कोरोना


वाराणसी. काशी जहां कभी चिताओं की आग बुझती ही नहीं है। उस काशी में रविवार की देर शाम एक हैरान करने वाला मामला सामने आया। गंगापार इलाके में कोरोना पॉजिटिव जिस मरीज की मौत के बाद परिवार उसके शव को मुखग्नि देने के लिए महाश्मशान हरिश्चंद्र घाट ले आया था। उन्हें डोम के अलावा घाट ओर रहने वाले परिवारों के विरोध का सामना करना पड़ा। घण्टे भर से अधिक समय तक लाश पड़ी रही। आखिरकार प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद शव को सीएनजीयुक्त शवदाहगृह से जलाया जा सका।

मृतक के शवदाह पर विरोध

गंगापुर इलॉके के रहने वाले व्यापारी की तीन अप्रैल को बीएचयू में इलाजनके दौरान मौत हो गई थीं। जिसकी जांच रिपोर्ट नहीं आई थी। रविवार को आई रिपोर्ट में वह कोरोना संक्रमित पाया गया। इधर देर शाम शव के शवदाह के लिए हरिश्चंद्र घाट ले जाया गया। जैसे ही वहां भनक लगी की ये मृतक तो कोरोना से मरा था अफरातफरी मच गई।

घाट पर रविवार को डोम राजा परिवार के छोटे लाल चौधरी की पारी थी। उन लोगों ने आग देने से इनकार कर दिया, साथ ही घाट छोड़कर चले गए। कहा की मुखाग्नि के लिए आग देने के दौरान उन्हें भी संक्रमण हो सकता है। इतना ही नहीं आसपास के लोग भी स्थानीय पार्षद राजेश यादव चल्लू के आवास पर आ गए और शवदाह यहां न जलाया जाय इसकी मांग करने लगे। सब्ज कहना था की इससे उन्हें भी संक्रमण का खतरा है।

पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने किया हस्तक्षेप

विरोध की जानकारी मिलने पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मोर्चा संभाला। तुरंत हरिश्‍चंद्र घाट पहुंच स्‍थानीय लोगों को समझा बुझाकर अपनी देखरेख में शवदाह कराया। शवदाह हो जाने के बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली। बेटे ने शव को मुखाग्नि दी।

ये भी पढ़ें: गरीबों की मदद के लिए आगे आईं प्रियंका गांधी, बांदा भेजा एक राशन ट्रक


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/people-residing-near-ghat-not-allow-to-give-funeral-to-corona-infected-5972208/

वाराणसी में एक कोरोना वायरस पॉजीटिव की मौत, चार इलाकों में लगाया गया कर्फ़्यू


वाराणसी. तीन दिनों के भीतर ही बनारस के चार लोगों में कोरोना पॉजीटिव की पुष्टि औऱ इसमें से एक कोरोना पेशेंट की मौत होने के बाद प्रशासन की चिंता और सक्रियता बढ़ गई है। बिना देर किये डीएम ने चार इलाकों में कर्फ्यू लगाने का आदेश दे दिया है। जिन इलाकों में कर्फ़्यू लगाए गए हैं इनमे मदनपुरा, लोहता, गंगापुर और बजरडीहा इलाका है। प्रशासन के एक्शन के बाद लोगों को घरों से निकलने की मनाही है। इसके साथ ही अतिरिक्त पुलिस बल लगाकर चारों इलाकों को सील कर दिया गया है।

चारों इलाकों में सतर्कता :- मदनपुरा और लोहता वो इलाका है जहां से तब्लीगी जमात में शामिल होने के बाद दो लोग लौटे थे और दोनों को इन्ही इलाकों से पुलिस ने पकड़ा था। 3 अप्रैल की रात में दोनों के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी के बाद प्रशासन ने इस इलाके को सील करके बाद में कर्फ्यू लगा दिया।

वहीं दूसरी तरफ बजरडीहा इलाका वो है जहां की रहने वाली एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। ये 16 मार्च को दिल्ली से बनारस लौटी थी। तबियत अधिक खराब होने के कारण जांच कराई गई तो कोरोना की पुष्टि हुई। इसके परिवार में कुल 14 सदस्य हैं सभी पर कोरोना का खतरा बढ़ गया है। प्रशासन ने इनके सेम्पल जांच के लिए भेज दिए हैं साथ ही इलॉके में कर्फ़्यू लगा दिया है। वहीं शहर का गंगापार वह इलाका है जहां कोरोना से ग्रसित एक 55 वर्षीय व्यक्ति मौत हो गई है। प्रशासन ने यहां भी एक्शन लिया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/varanasi-coronavirus-positive-death-four-areas-curfew-5970313/

अभिभावकों को राहत, अभी नहीं जमा करनी होगी स्कूल फीस, जिलाधिकारी ने दिए निर्देश


लखनऊ. लॉकडाउन के कारण विद्यार्थियों को भी शिक्षा का नुकसान हो रहा है। अप्रैल माह में जहां नया सत्र शुरू हो जाता था, वहां छात्र-छात्राएं अभी अपने-अपने घरों में हैं। कुछ स्कूलों में आनलाइन क्लासेस शुरू हो गई हैं, लेकिन अधिकतर स्कूलों में यह व्यवस्था नहीं हैं। 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन पूरी तरह से हट जाएगा, इसपर भी संशय हैं। ऐसे में कानपुर, वाराणसी जैसे जिलों के जिलाधिकारियों ने आईसीएसई व सीबीएसई बोर्ड के सभी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि वह जून माह मतलब तीन महीने तक की फीस फिलहाल न लें।

ये भी पढ़ें- CBSE बोर्ड के कक्षा आठवीं तक के सभी विद्यार्थी होंगे पास

वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सभी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि अप्रैल, मई, जून, जिसकी फीस पूर्व वर्षों की तरह अप्रैल में जमा हो जाती थी, उसकी इस वर्ष समय सीमा बढ़ा दी जाए। उन्होंने जारी पत्र में कहा है कि लॉकडाउन के कारण कारोबार व रोजगार प्रभावित है। जिस कारण उनके द्वारा स्कूलों की फीस इस दौरान भर पाना मुश्किल है। इसी के दृष्टिगत यह निर्देश सभी स्कूलों की दिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि आगामी माह की फीस जमा करने का सभी स्कूल अपने - अपने स्तर पर चार्ट तैयार करें और अभिभावकों को इससे अवगत कराएं। अप्रैल व मई की फीस जमा न करने की स्थिति में किसी भी छात्र-छात्रा का स्कूल से नाम न काटा जाए। कानपुर नगर की जिलाधिकारी ने भी समस्त स्कूलों को यह निर्देश दिए हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/three-months-school-fees-not-be-taken-5969676/

काशी में पीएम की अपील और पुलिस बनी बंदरों का सहारा, लॉकडाउन में बेजुबानों को खाने का सबसे बड़ा संकट


वाराणसी. लॉकडाउन के बाद खाने का सबसे बड़ा संकट बेजुबानों को है। पशुओं-पक्षियों के साथ काशी में जगह जगह झुंड बनाकर रहने वाले बन्दरों के लिए भी ये समय मुश्किल भरा है। लेकिन इनकी सुरक्षा में कारगर हो रही है पीएम मोदी की वो अपील जो उन्होंने 25 मार्च काशीवासियों के साथ बात करते हुए किया था।

लॉकडाउन के बाद 25 मार्च को काशी की जनता से वीडियो कांफ्रेंसिंग करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि आप सब जिम्मेदारी लें कि आप के आसपास कोई भी गरीब दुखिया या बेजुबान इस लॉकडाउन के दौरान भूखे पेट नहीं रहेगा। उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को दुनियां को दिशा देने वाला बताते हुए कहा था कि ऐसा करके आप पूरे देश को मानवता के प्रति राह दिखाने का काम कर सकते हैं।

इसके लिए लोग मदद के लिए आगे आ रहे हैं और उनकी मदद कर रहे हैं। वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर के पास भी पुलिस का कुछ ऐसा ही रूप दिखा है। उसके बाद यहां धार्मिक सामाजिक संगठनों, कई समूहों, देवालयों के साथ ही घर घर से जरूरतमंदों के लिए भोजन देने का काम किया जाने लगा। सामाजिक संगठनों की गाड़ियां गरीब इलाकों के साथ ही संकट मोचन मंदिर, विश्वनाथ मंदिर परिसर, मुंशी घाट क्षेत्र, दशाश्वमेध आदि के इलाके में बंदरों के लिए भी केला, ब्रेड आदि की व्यवस्था करते हैं।

ऋण मुक्तेश्वर मन्दिर के पुजारी कामता द्विवेदी कहते हैं कि सुबह मन्दिर में पूजा के साथ ही पीपल के पेड़ों पर रहने वाले सैकड़ो वानर के लिए फल ब्रेड बिस्किट पूरियों आदि की व्यवस्था की जाती है ताकि इन्हें असुविधा न हो। साथ ही जल कुंड भी सुबह भर दिया जाता है। वहीं अन्नपूर्णा भोजन की टीम में लगे समर बहादुर यादव भी कहते हैं की जहां जहां बंदरों के अधिक संख्या में रहने के स्थल हैं वहां चिंहित कर हम इनके लिए भी आहार देने का प्रबंध हर दिन करते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/pm-s-appeal-in-kashi-and-police-became-the-support-of-monkeys-5969567/

बनारस में एक और कोरोना पॉजिटिव केस, दुबई से लौटी महिला हुई संक्रमित, 14 लोगों का है परिवार


वाराणसी. जिले में लगातार दूसरे दिन भी कोरोना पॉजिटिव का एक मामला सामने आया है। अब बजरडीहा इलाके की रहने वाली एक महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। ये महिला 15 मार्च को दुबई से दिल्ली और फिर वहां से 16 तारीख को शिवगंगा ट्रेन से वाराणसी आई है। लगातार गले में खरास और बुखार की शिकायत के बाद जांच कराई गई तो इसमें कोरोना की पुष्टि हुई है।

बता दें की ये महिला कुछ दिन पहले बनारस से सऊदी गई थी। वहां जेद्दा में रहती थी। मार्च में जेद्दा से दिल्ली फिर वहां से बनारस आ गई। परिवार वालो की माने तो 25 तक उसकी तबियत सामान्य रही। लेकिन उसके बाद गले में खरास खांसी बुखार तेजी से बढ़ने लगा। सामान्य दवा लेने के बाद भी आराम नहीं हुआ तो महिला को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल कराया गया। रिपोर्ट आने के बाद इसको आइसोलेट कर इलाज शुरू कर दिया गया है।

परिवार में हैं 14 लोग

कोरोना पॉजिटिव महिला के परिवार में भी 14 लोग हैं। इन सभी को होम कोरेण्टाइन कर दिया गया है। आज जांच के लिए सभी के सेम्पल लिए जाएंगे। जरूरत पड़ी तो सभी को आईशोलेट भी कराया जाएगा।

अब तक बनारस में पांच लोग कोरोना से ग्रसित

बनारस में भी कोरोना का पांव पसारना कम नहीं हो रहा है। तमाम प्रयास के बाद भी अब तक पाँच लोग कोरोना वायरस की चपेट में हैं। दो की सेहत में सुधार बताया जा रहा है। वहीं ये वायरस न फैले इसके लिए लॉकडाउन के अलावा 14 हज़ार से अधिक उन लोगों को होम कोरेण्टाइन किया गया है जो किसी अन्य शहर से यहां आए है, या जिन्हें किसी तरह की नार्मल समस्या है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/one-more-corona-positive-case-found-in-varanasi-5969029/

अभिभावकों को राहत, जून तक फीस नहीं लेंगे कॉन्वेंट स्कूल, आदेश जारी


वाराणसी. जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा (Kaushal Raj Sharma) ने जिले के स्कूली बच्चों और उनके अभिभावकों को बड़ी राहत दी है। अभिभावकों की मांग पर डीएम ने जिले के सभी सीबीएसई और आईसीएससी विद्यालयों को आदेश दिया है कि जून तक कोई भी स्कूल किसी बच्चे की फीस जमा करने के लिए दबाव नहीं बनाएगा। डीएम ने साफ किया है की इसकी पालना न करने वाले स्कूलों के खिलाफ कड़ाई से कार्रवाई की जाएगी। अभी तक स्कूल प्रबंधन अप्रैल में ही तीन माह की फीस एक साथ जमा करा लेता था। इस पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है।

अभिभावकों को राहत, जून तक फीस नहीं लेंगे कॉन्वेंट स्कूल, आदेश जारी

बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है। स्कूल बंद हैं पर विद्यालय की तरफ से अभिभावकों के पास लगातार फोन और मैसेज आ रहे हैं की वे अप्रैल, मई और जून माह की फीस निर्धारित समय तक दे दें। इसके लिए स्कूल के कार्यालय खोले गए हैं। इतना ही कई विद्यालयों की तरफ से साफ कहा जा रहा था की फीस जमा कराए जाने और बच्चों का नाम काट दिया जाएगा।

स्कूल के इस आदेश से परेशान अभिभावकों के एक दल ने जिलाधिकारी से मुलाकात कर उनसे इस समस्या का समाधान निकालने की अपील की। लोगों ने बताया की लॉकडाउन वे कारण घरों से न निकल पाने और काम काज ठप होने की वजह से उनके पास रूपये की आमद नहीं हो रही है। जिससे वे विद्यालय की फीस अभी जमा कराने में असमर्थ हैं।अभिभावकों ने डीएम से निवेदन किया है कि उन्हें तीन महीने का समय दिया जाए ताकि लॉकडाउन की अवधि हटने के बाद कामकाज ठीक होने पर इस माह की फीस को आगे के महीनों की फीस के साथ जमा कर सकें।

अभिभावकों की समस्या को देखते हुए जिलाधिकारी ने जिले के सभी स्कूलों को अप्रैल, मई और जून माह की फीस जुलाई के बाद लेने के आदेश जारी किए हैं। उन्होंने कहा है कि स्कूल प्रबंधक इन तीनों महीनों की फीस जुलाई के बाद किस्तों में लें।

पहले से होती रही है तीन महीने की वसूली

बता दें कि मार्च में परीक्षा के बाद एक अप्रैल से स्कूलों में नया सत्र शुरू हो जाता था। 15 मई तक स्कूल में पढ़ाई के बाद गर्मी की छुट्टी होती है एक जुलाई से स्कूल में फिर पढ़ाई शुरू कर दी जाती है। इन तीन महीनों की फ़ीस अभिभावकों को अप्रैल में ही देनी होती है। लेकिन इस बार लॉकडाउन के बीच बढ़ी मुश्किलों को देखते हुए जिलाधिकारी ने अभिभावकों को राहत देने के लिए यह आदेश जारी किया है।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन: मनमानी करने वालों पर एक्शन, बनारस पुलिस ने 11410 वाहनों का किया चालान, 475 गाड़ियों को सीज कर दिया


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/varanasi-dm-issue-order-convent-schools-will-not-charge-fees-till-june-5968966/

लॉकडाउन: मनमानी करने वालों पर एक्शन, बनारस पुलिस ने 11410 वाहनों का किया चालान, 475 गाड़ियों को सीज कर दिया


वाराणसी. कोरोना (COVID-19) के बढ़ते खतरे को लगातार रोकने में जुटी सरकार और प्रशासन की बातों को अनसुना कर कई लोग मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे लोगों को बनारस पुलिस सबक सिखाने में एक मिनट की भी देरी नहीं लगा रही।

सिर्फ शनिवार की ही बात करें, तो शनिवार तो बनारस पुलिस ने लंका, शिवपुर, चेतगंज, मंडुआडीह समेत जिले के अलग अलग थानों में होटल, गेस्ट हाउस, दुकान संचालको समेत 21 व्यक्तियों के विरुद्ध 12 मुकदमे पंजीकृत करने के साथ ही 14 को को धारा 151 के विरुद्ध गिरफ़्तारी की। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने लॉकडाउन का शत-प्रतिशत पालन कराने का निर्देश दिया है।

वहीं सड़क पर निकलने वालों पर भी कार्रवाई करते हुए बनारस पुलिस ने अलग अलग थाना इलाके के 14 बार्डर प्वाइंट व 49 पुलिस नाकों पर सघन चेकिंग अभियान चलाकर 789 वाहनों का चालान किया साथ ही 17 वाहनों को सीज कर दिया

ये है अब तक की स्थिति

लॉकडाउन के दौरान वाराणसी पुलिस ने अब तक कुल 209 व्यक्तियों के विरुद्ध 116 अभियोग पंजीकृत किये गये है जबकि 202 के विरुद्ध धारा 151 सीआरपीसी के तहत कार्यवाही हुई है। पुलिस ने अब तक शहर और देहात क्षेत्र में लगभग 11410 वाहनों का चालान, 475 वाहनों को सीज किया गया है।

गलियों में भी पुलिस की गश्त

बनारस पुलिस यहां के गलियों में भी नजर रख रही है। बाइक पर सवार होकर जवान दिन में चार से पांच बार गलियों में भी ओहवः है हैं। सड़क लर निकलने वालों को घरों में बी रहने का व कोरोना के खतरे कप रोकने मसान सहयोग की अपील कर रहे हैं। बिना की वाजिब कारण से बाहर निकलने वालों पर भी पुलिस क़ानूमे कार्रवाई करने में देर नहूं कर रही है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/police-in-varanasi-strict-against-people-breaking-rules-of-lockdown-5968818/

धर्मगुरुओं से बोले बनारस के डीएम, शब ए बारात पर किसी भी घर से न निकले एक आदमी, सबने कहा हम सब आपके साथ


वाराणसी. जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने शनिवार को मुस्लिम समुदाय के धर्मगुरुओं के साथ एक बैठक किया। कैम्प कार्यालय में हुई इस बैठक में डीएम ने सभी से एपीपी किया की तब्लीगी जामात किसी भी लोगो की जानकारी मिले तो तत्काल इनसे जांच कराने को कहिए। अन्यथा उनके साथ सख्ती बरती जायेगी और एफआईआर व राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही की जायेगी। साथ ही डीएम ने कहा है की 8 अप्रैल से 11 अप्रैल के बीच पड़ने वाले शब ए बारात पर भी कोई सड़क पर न निकले नहीं तो प्रशासन को कड़ाई से करना होगा। उन्होंने सभी से कहा कि इस महामारी से बचने के लिए सहयोग देने का काम करे। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने भी कहा की हम सब एकजुट होकर कोरोना को हराने का काम करेंगे।

इस दौरान जिलाधिकारी ने धर्मगुरुओं के साथ कोविड-19 के संबंध में चर्चा करते हुए अब तक जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी साथ ही धर्म गुरुओं से सहयोग की अपील की। उन्होंने खाने पीने की चीजों से सम्बंधित समस्या की जानकारी ली और कहा कि जहां कहीं भी जिला प्रशासन के सहयोग की जरूरत हो तो वह तत्काल सम्पर्क करें।

डीएम ने कहा कि जिन लोगों को बीमारी के लक्षण हैं वे 1077 कन्ट्रोल रूम में सूचना दें और दीनदयाल अस्पताल में जा कर स्क्रीनिंग करायें और इलाज करायें तथा इलाज में पूरा सहयोग करें। अस्पताल में डॉक्टरों/कर्मचारियों से किसी प्रकार का दुर्व्यवहार न करें। उन्होंने धर्मगुरुओं से कहा कि वे अपनी ओर से समाज के लोगों से अपील करें और उन्हें बीमारी के खतरों से आगाह करते हुए जिला प्रशासन की कड़ी कार्यवाही करने की चेतावनी भी दें। वहीं धर्मगुरुओं का कहना है कि इस ख़तरनाक बीमारी से बचने और लोगों को बचाने के लिए ये जरूरी है कि आगामी 8 अप्रैल से 11 अप्रैल के बीच पड़ने वाले पर्व “शब-ए-बारात” पर कोई भी घरों से नहीं निकले, किसी जगह भी आने-जाने की किसी को अनुमति नहीं होगी। सभी लाकडाउन का कड़ाई से पालन करेंगे। बैठक में अब्दुल बातिन, अखलाक अहमद, ए.मलिक व एस.एम.यासीन मौजूद रहे।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/varanasi-dm-of-banaras-spoke-to-religious-leaders-about-shab-a-barat-5966558/

कोरोना ने तोड़ी सदियों पुरानी परंपरा : सोहर गान हुआ न नाचीं नगर वधुएं, फूल बंगले में नहीं विराजेंगे ठाकुरजी


पत्रिका एक्सक्लूसिव

अयोध्या.काशी. अयोध्या और काशी हिंदुओं के दो प्रमुख स्थल। करोड़ों हिंदुओं की आस्थाएं इन दोनों धार्मिक स्थलों से जुड़ी हैं। यहां की संस्कृति लोगों में रची-बसी है। लेकिन, वैश्विक महामारी कोरोना ने इस न केवल करोड़ों जीवन को संकट में डाला है बल्कि सैकड़ों सालों की परंपरा को भी छिन्न-भिन्न कर दिया है। इस बार श्रीरामलला के जन्मदिन पर सामूहिक सोहर गान नहीं हुआ। न ही काशी में मणिकर्णिका घाट किनारे स्थित बाबा मसान नाथ के वार्षिक श्रृंगार समारोह की रात नगर वधुओं ने नृत्य किया।

धार्मिक नगरी अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के जन्मोत्सव के बाद यहां के मंदिरों में मनाए जाने वाले छठ उत्सव की छट को कोरोना संक्रमण ने फीका कर दिया है। मंदिर परिसर में कुछ साधु-संत कार्यक्रम की औपचारिकता को निभा रहे हैं। रामलला के जन्मोत्सव के दूसरे दिन कामदा एकादशी पर रंगभरी एकादशी का पर्व भी इस बार ठीक से नहीं मन पाया। भगवान के अन्नप्राशन में भी लोग नहीं आए। छह दिनों तक चलने वाला सोहर गान भी नहीं हो रहा। यहां के कनक भवन, राम वल्लभा कुंज, लक्ष्मण किला, सद्गुरू सदन, जानकी महल, राम हर्षण कुंज, विभूति भवन सहित दर्जनों मंदिरों में बधाई गायन रस्म अदायगी बन कर रह गया।

पहली बार टूटा सिलसिला

कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से मिथिला से आने वाले भक्तों को भी रोक दिया गया। लक्ष्मण किला के महंत मैथिलीशरण दास ने बताया कि श्रीराम जन्मोत्सव इस बार लक्ष्मण किला पर ही सीमित है। यहां छठ उत्सव का 7 अप्रेल को समापन है। जिसमें कुछ स्थानीय संतों के ही भाग लेने की अनुमति है।

काशी में नगर वधुएं अर्पित नहीं कर सकीं नृत्यांजलि

उधर, काशी में कोरोना की वजह से 350 साल पुरानी परंपरा टूट गयी। मणिकर्णिका घाट किनारे स्थित बाबा मसान नाथ को नगर वधुएं अपनी नृत्यांजलि अर्पित नहीं कर सकीं। बाबा के वार्षिक श्रृंगार की रात यहां नरग वधुएं आधी रात में नृत्य करती हैं। बाबा विश्वनाथ, काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव और संकट मोचन मंदिर समेत अन्य सभी मंदिर बंद हैं। मणिकर्णिका घाट पर पचासों जलती चिताओं के बीच नगर बधुएं बाबा मसान के वार्षिक कार्यक्रम पर झूम-झूम कर नाचती हैं। जल रही लाशों के बीच दुनिया में शायद ही कोई ऐसा उत्सव होता हो। लेकिन इस बार काशी में बाबा मसान के वार्षिक श्रृंगार की रात यह नजारा देखने को नहीं मिला। मान्यता है कि नगर वधुएं बाबा मसान नाथ के दरबार में नृत्य कर अपने अगले जन्म को बेहतर होने की कामना करती हैं। पर वे सब इस बार निराश हैं। कह रही हैं उनकी सालों की तपस्या टूट गयी।

350 साल पुरानी परंपरा टूटी

17वीं शताब्दी में काशी नरेश राजा मान सिंह ने बाबा मसान नाथ के मंदिर का निर्माण के बाद संगीत कार्यक्रम को रखा। लेकिन श्मशान की वजह से कोई कलाकार संगीत उत्सव में शामिल नहीं हुआ। तब नगर वधुओं ने मसान नाथ के दरबार में नृत्यांजलि अर्पित की थी। तब से यह परंपरा चली आ रही थी। लेकिन, इस बार टूट गई।

फूलबंगले में नहीं विराजेंगे बांके बिहारी

कोरोना ने वृदांवन में भी परंपरा को तोड़ा है। एकादशी से अपने गर्भगृह से निकलकर ठाकुर बांके बिहारी जी भक्तों को फूलबंगला में दर्शन देते थे। लेकिन इस बार न तो फूलबंगला सजेगा न ही वह बाहर आएंगे। ठाकुर बांके बिहारी जी महाराज सैकड़ों वर्षों से चैत्र की एकादशी से गर्भगृह से बाहर आकर दर्शन देते रहे हैं। एकादशी से उनका सिंहासन चंदन चबूतरा पर रखा जाता है। उसके चारों और भव्य फूलबंगला सजाया जाता है। शयनकालीन सेवायत सुरेश गोस्वामी के मुताबिक इस बार सेवा में सिर्फ चार-पांच गोस्वामीगण ही हैं। इसलिए इस परंपरा का निर्वाह नहीं होगा।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/corona-broke-centuries-old-tradition-5966173/

सीआरपीएफ के जवान भी घर-घर पहुंचकर कर रहे लोगों की मदद, हेल्पलाइन नंबर भी किया जारी


वाराणसी. लॉकडाउन के कारण गरीब व असहायों को हो रही परेशानियों को देखते हुए उनकी मदद के लिए सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं के बाद अब सीआरपीएफ के जवान भी आगे हैं। सीआरपीएफ द्वारा कोरोना के संक्रमण को दूर करने के लिए शहर के गली-मोहल्लों में दवा व सेनिटाइजर के छिड़काव के साथ जरूरतमंदों तक राशन व खाद्य सामग्री वितरित की जा रही है। जवानों द्वारा लोगों से दान लेकर जरूरतमंदों तक सहायता पहुंचाई जा रही है।

वहीं नरेंद्र पाल कमांडेंट 95 बटालियन सीआरपीएफ ने लोगों से घर से न निकलने की अपील करते हुए बताया कि सीआरपीएफ द्वारा गैर सरकारी संस्थाओं से मिलकर जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाई जा रही ही। साथ ही लोगों की मदद के लिए 9411932942 और 0542-2587701 हेल्पलाइन नम्बर भी जारी कर दिया गया है। कमांडेंट ने बताया कि यदि किसी को किसी भी प्रकार की मदद की आवश्यकता हो तो वह जारी किए गए इस हेल्पलाइन नम्बर पर सम्पर्क कर सकता है।

बनारस में अब तक कोरोना के पांच केस

बनारस जिले में शुक्रवार की रात तक पांच कोरोना पॉजीटिव मरीजों की पुष्टि हो चुकी हैं। प्रशासन के साथ ही सामाजिक संगठन, शहर के विद्वतजन भी इस बात से चिंता मसान हैं की अगर इस बढ़ती संख्या को न रोका का सका तो बड़ी मुश्किल हो जायेगी। आज कई संगठनों के प्रमुख एक साथ आकर शहर के लोगों से अपील करेंगे की वो सोशल डिस्टनसिंग का पूरी तरह पालन करते हुए। कोरोना के बढ़ते खतरे को रोकने में प्रशासन का साथ दें।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/varanasi-news/crpf-jawans-also-helping-people-reaching-from-house-to-house-5965281/

Danik Bhaskar Rajasthan Danik Bhaskar Madhya Pradesh Danik Bhaskar Chhattisgarh Danik Bhaskar Haryana Danik Bhaskar Punjab Danik Bhaskar Jharkhand Patrika : Leading Hindi News Portal - Bhopal Patrika : Leading Hindi News Portal - Jaipur The Hindu Hindustan Hindi Nai Dunia Latest News Danik Bhaskar National News Danik Bhaskar Himachal+Chandigarh Patrika : Leading Hindi News Portal - Entertainment Danik Bhaskar Uttar Pradesh Patrika : Leading Hindi News Portal - Mumbai Patrika : Leading Hindi News Portal - Astrology and Spirituality Patrika : Leading Hindi News Portal - Lucknow News 18 Nai Dunia Madhya Pradesh News onlinekhabar.com NDTV News - Latest Patrika : Leading Hindi News Portal - Varanasi Patrika : Leading Hindi News Portal - Miscellenous India Danik Bhaskar Delhi Danik Bhaskar Technology News Orissa POST Scroll.in Danik Bhaskar Health News ET Home NDTV Top Stories NDTV News - Top-stories Bharatpages India Business Directory Patrika : Leading Hindi News Portal - Sports Patrika : Leading Hindi News Portal - Business Patrika : Leading Hindi News Portal - Education Patrika : Leading Hindi News Portal - World NDTV Khabar - Latest hs.news Telangana Today Patrika : Leading Hindi News Portal - Bollywood Moneycontrol Latest News NDTV News - India-news India Today | Latest Stories ABC News: International Business Standard Top Stories Danik Bhaskar International News Danik Bhaskar Madhya Pradesh NDTV News - Special The Dawn News - Home Patrika : Leading Hindi News Portal - Mobile Bollywood News and Gossip | Bollywood Movie Reviews, Songs and Videos | Bollywood Actress and Actors Updates | Bollywoodlife.com Jammu Kashmir Latest News | Tourism | Breaking News J&K Nagpur Today : Nagpur News NYTimes.com Home Page (U.S.) NSE News - Latest Corporate Announcements Stocks-Markets-Economic Times DDNews Feeds Stocks Baseerat Online Urdu News Portal View All
Directory Listing in Computer and Internet in TAMIL NADU Herbal and Ayurvadic in DELHI Business Services in RAJASTHAN Sports Goods and Equipments in BIHAR IT FIRM in CHANDIGARH PMKVY Training Centre in CHATTISGARH Institution in RAJASTHAN NGO in WEST BENGAL Computer Sales And Services in KARNATAKA Computer Sales And Services in JAMMU & KASHMIR Modicare MSC in WEST BENGAL Shopping in DELHI Packing Materials and Equipment in BIHAR FASHION SHOP in DELHI Health Care in CHANDIGARH Electronics And Electrical Goods in MANIPUR University in BIHAR Beauty Parlour & Beauty Clinic in CHANDIGARH College in UTTARAKHAND University in ANDHRA PRADESH Gems and Jewellery in GUJRAT Abrasives and Allied Products in RAJASTHAN Hotels and Resorts in MADHYA PRADESH Architect in BIHAR School in DELHI Health Care in MIZORAM IT FIRM in HARYANA Education & Jobs in JHARKHAND Packing Materials and Equipment in RAJASTHAN University in UTTAR PRADESH Coaching in CHANDIGARH Transportation in BIHAR Bridal Jewellery in KERALA FASHION SHOP in TAMIL NADU Admission Consultant in JHARKHAND Coaching in RAJASTHAN Hotels and Resorts in JHARKHAND Packers and Movers in MAHARASHTRA Business Services in DELHI WEDDING in UTTAR PRADESH common service centre in CHANDIGARH NGO in MEGHALAYA Hotels and Resorts in HARYANA Courier Services in CHANDIGARH Beauty Parlour & Beauty Clinic in MAHARASHTRA Health & Beauty in ANDHRA PRADESH Library in BIHAR Hotels and Resorts in KERALA Cosmetics and Beauty Services in BIHAR builder & construction in CHANDIGARH