PATRIKA : LEADING HINDI NEWS PORTAL - MISCELLENOUS INDIA #BHARATPAGES BHARATPAGES.IN

Patrika : Leading Hindi News Portal - Miscellenous India

http://api.patrika.com/rss/miscellenous-india 👁 131952

JNU छात्रों का राष्ट्रपति भवन तक जुलूस रोकने के लिए पैंतरा, बंद किए गए सभी गेट


नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है। यूनिवर्सिटी के सभी गेट पर बैरिकेड लगा दिया गया है और सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि छात्र राष्ट्रपति भवन तक जुलूस न निकाल सकें। हालांकि, छात्र जुलूस को आगे बढ़ने देने के लिए सुरक्षा बलों को मनाने की कोशिश कर रहे हैं।

जेएनयू से राष्ट्रपति भवन तक जुलूस की थी प्लानिंग

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ (JNUSU) ने जेएनयू से राष्ट्रपति भवन तक एक जुलूस का आह्वान किया था। JNUSU ने इसका आह्वान अपने महीने भर लंबे विरोध प्रदर्शन के सकारात्मक नतीजे नहीं आने के बाद किया। प्रशासन ने उनकी हास्टल फीस की प्रस्तावित बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग को अस्वीकार कर दिया।

गेटों पर थी भारी बलों की तैनाती

हालांकि, जेएनयूएसयू ने अपनी मांग का एक पत्र राष्ट्रपति को ईमेल किया है। इस पत्र में छात्रों ने प्रस्तावित शुल्क वृद्धि को पूरी तरह से वापस लेने की मांग की है। इससे पहले दिन में दिल्ली पुलिस ने दूसरे सुरक्षा बलों के साथ यूनिवर्सिटी के सभी गेटों को सील कर दिया, जिसका इस्तेमाल छात्रों द्वारा अपनी मांगों के लिए राष्ट्रपति भवन तक जुलूस निकालने के लिए किया जाना था। यूनिवर्सिटी के बाहरी गेटों पर भारी बलों की तैनाती थी। सुरक्षाकर्मी वाटर कैनन, लाठी व आसू गैंस के साथ सड़कों पर दिखाई दिए।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/jnu-all-gates-closed-to-stop-students-rally-to-rashtrapati-bhavan-5480729/

अगले 48 घंटे में बदलेगा मौसम का मिजाज, 20 से ज्यादा राज्यों में पड़ेगी कड़ाके की ठंड


नई दिल्ली। देशभर में मौसम का मिजाज तेजी से बदल रहा है। मैदानी इलाकों में जहां सर्द हवाओं ने अपना डेरा जमाना शुरू कर दिया है वहीं पहड़ी इलाकों में भी बर्फबारी की लगातार आमद ने मौसम को पूरी तरह ठंड के आगोश में ला दिया है। भारतीय मौसम विभाग की मानें तो आने वाले एक हफ्ते तक देश के 20 से ज्यादा राज्य सर्द हवाओं की जकड़ में होंगे।

यही नहीं कुछ राज्यों में अभी भी बारिश के आसार बने हुए हैं। दरअसल अरब सागर में बन रहे निम्न दबाव के चलते कुछ मैदानी इलाकों और तटीय क्षेत्रों में अगले तीन चार दिन तक बारिश होने के आसार बने हैं। हालांकि इस बारिश के साथ ही यहां तेज रफ्तार सर्द हवाएं भी चलेंगी जो मौसम को पूरी तरह बदल देंगी।

नागरिकता संशोधन बिल के बीच इस दिग्गज नेता का हुआ निधन, कई वरिष्ठ नेताों ने जताया शोक...

हिमाचल और उत्तराखंड में बदल जाएगी सूरत
हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की बात करें तो यहां 11 दिसंबर से मौसम का मिजाज बदलने वाला है। मौसम विभाग ने इस सप्ताह प्रदेशभर में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने का अनुमान जताया है। इसके तहत देहरादून सहित प्रदेशभर में हल्की बारिश होगी। पहाड़ों में बर्फबारी होगी।

प्रदेशभर में ठंड का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। देहरादून में रात का तापमान 7.2 डिग्री तक पहुंच गया है। 11 दिसंबर से उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

चक्रवाती तूफान पवन को लेकर आई अब तक की सबसे बड़ी खबर, इतने वक्त में बरपाएगा कहर

हल्की बारिश के आसार
देहरादून में भी 12 और 13 दिसंबर को हल्की बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि 14 दिसंबर को राजधानी में आंशिक बादल छाए रहेंगे।

बिहार में भी बदलेगी मौसम की चाल
उधर..बिहार में भी मौसम की चाल बदल रही है। कोयलांचल में मौसम का मिजाज बदलने लगा है। धीरे-धीरे यहां ठंड का प्रकोप बढ़ने लगा है। अगले सप्ताह यहां बारिश के आसार हैं। बारिश हुई तो मतदान से पहले यहां कड़ाके की ठंड पड़नी शुरू हो जायेगी।

12 और 13 दिसंबर को यहां हल्की से तेज बारिश हो सकती है। बारिश हुई तो यहां ठंड बढ़ सकती है। इस वर्ष अब तक यहां ठंड का बहुत असर नहीं पड़ा है।

इन राज्यों में बढ़ेगी सर्दी
सर्द हवाओं के असर की बात करें तो आने वाले एक सप्ताह में दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के कई राज्यों पंजाब, हरियामा, उत्तर प्रदेश में सर्द हवाओं का असर देखने को मिलेगा।

इसके अलावा बिहार से लेकर पूर्वोत्तर इलाकों तक कड़ाके की ठंड लोगों की मुश्किल बढ़ा सकती है। मौसम की जानकारी देने वाली निजी संस्था की मानें तो पिछले कई सालों के रिकॉर्ड इस वर्ष टूट सकते हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/weather-update-heavy-snowfall-cold-waves-in-20-states-next-48-hours-5480584/

स्मॉग की चादर से ढकी दिल्ली, वायु गुणवत्ता फिर 'खतरनाक' स्तर पर


नई दिल्ली। दिल्ली में सोमवार को वायु गुणवत्ता एक बार फिर खतरनाक स्तर पर पहुंच गई। वायु गुणवत्ता सूचकांक 582 पर दर्ज किया गया। पूरे दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर अधिकतम 555 पर, जबकि पीएम 10 का स्तर अधिकतम 695 पर पहुंच गया है। दोनों सूचकांक हवा की गुणवत्ता खराब या अच्छा होने के प्रमुख संकेतक हैं।

 

j2.png

इस बीच, उपनगरीय नोएडा में एक्यूआई का स्तर भी 444 को छू गया, जो हानिकारक है। लेकिन गुरुग्राम 282 के साथ अपेक्षाकृत बेहतर है, लेकिन यह भी अस्वास्थ्यकर है। केंद्रीय एजेंसी, सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्ट (सफर) ने रविवार को दिल्ली के लोगों को ज्यादा या भारी कसरत न करने की सलाह दी।

 

j1.png

एजेंसी ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि अधिक ब्रेक लें और तेज गतिविधियां कम करें। अस्थमा रोगी बीमारी, खांसी या सांस लेने में तकलीफ होने के लक्षण होने पर चिकित्सा लें। सांस फूलना, सांस लेने में तकलीफ या असामान्य थकान होने पर दिल के मरीज डॉक्टर से मिलें सफर ने अपने वायु गुणवत्ता अनुमान में कहा कि ठंडी और नम स्थितियों में, अगले 24 घंटों के लिए घना कोहरा रहने की संभावना है। एजेंसी ने अपने अनुमान में वायु गुणवत्ता में जल्द सुधार की संभावना से इंकार किया है।

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/poor-air-quality-in-delhi-ncr-5480306/

Delhi Fire: अहम सवाल- अनाज मंडी में 43 मौतों के लिए जिम्मेदार कौन?


नई दिल्ली। उत्‍तरी दिल्‍ली के अनाज मंडी अग्निकांड में 43 लोग शासन-प्रशासन की अनदेखी का शिकार हो गए। अभी तक की जांच में ये बात सामने आई है कि अग्निकांड के पीछे की सबसे बड़ी वजह लापरवाही है। फैक्ट्री मालिक की लापरवाही, श्रम विभाग की लापरवाही और सरकार की लापरवाही। इतना ही नहीं इस कारखाने में फैक्ट्री एक्ट का जमकर उल्लंघन हुआ है। बताया जाता है कि 600 वर्गफुट में करीब सवा सौ से अधिक लोग काम कर रहे थे। यह घोर लापरवाही है।

इस अग्निकांड से सबसे ज्यादा सवालों के घेरे में हैं दिल्ली श्रम विभाग के अधिकारी जिनके पास इंडस्ट्रियल सेफ्टी की जिम्‍मेदारी है। लेकिन अभी तक इस भयावह और दर्दनाक हादसे के लिए किसी की जिम्‍मेदारी तय नहीं हुई है।

Delhi Horrific Fire: देखते ही देखते डेथ चैंबर में तब्‍दील हो गया अवैध फैक्ट्रियों का इलाका अनाज

न्‍यायिक जांच के आदेश

श्रमिकों की हितों की बात करने वाली दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश तो दे दिए हैं लेकिन दोषी अधिकारियों का क्‍या होगा इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है। सबकुछ साफ होने के बाद भी न तो लेबर विभाग, न फायर विभाग और न ही इंडस्ट्रियल विभाग के किसी कर्मचारी या अधिकारी के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। हालांकि सीएम ने मृतकों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान जरूर किया है।

हैदराबाद गैंगरेप केस: एनकाउंटर की जांच के लिए SIT गठित, अब सच आएगा सामने

फैक्‍ट्री में मजदूरों को सुलाना गंभीर मसला

औद्योगिक सुरक्षा विषय के जानकार आरपी गुप्ता कहते हैं कि इस फैक्ट्री में अगर फैक्ट्री एक्ट का पालन हो रहा होता तो इतने लोगों की जान नहीं जाती। छोटे से एरिया में इतने लोगों का काम करना बड़ा सवाल खड़ा करता है। यहां काम करने के बाद सभी मजदूर यहीं पर सो जाते थे। जबकि कोई भी फैक्ट्री मालिक कार्यस्थल पर अपने मजदूरों को नहीं सुला सकता। इमारत से बाहर निकलने के लिए एक ही रास्ता है। जबकि इसके लिए एक वैकल्पिक रास्ता भी होना चाहिए। दिल्ली सरकार को इसकी जांच में फैक्ट्री एक्ट के इन पहलुओं पर जांच जरूर करना चाहिए।

इस मामले में टाउन प्लानर रहे एससी कुश का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट और राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण ( NGT ) ने रिहायशी एरिया से फैक्ट्रियों को हटाने का आदेश दिया हुआ है लेकिन पूरे दिल्ली-एनसीआर में अवैध रूप से इनका संचालन किया जा रहा है। भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में पांच-पांच मंजिल की फैक्ट्री चलाना अवैध है, लेकिन कुछ लोगों की मिलीभगत से सब कुछ हो रहा है। लेकिन ये मुआवजा उन्‍हें मिलेगा या नहीं ये भी अभी तय नहीं है। ऐसा इसलिए कि इस दर्दनाक घटना में मारे गए लोग ज्‍यादातर बिहार से या बाहरी थे। ये लोग सीएम द्वारा घोषित मुआवजे की कानूनी प्रक्रिया पूरी कर पाएंगे या नहीं ये तो वक्‍त ही बताएगा।

... तो इस वजह से हुई दिल्‍ली की भीषण अग्निकांड में 43 लोगों की मौत?

क्‍या फैक्‍ट्री मालिक के पास है इस सवाल का जवाब

- फैक्ट्री मालिक ने मजदूरों का बीमा कराया था कि नहीं
- कारखाना फैक्ट्री एक्ट के तहत रजिस्टर्ड था या नहीं
- इसका वर्किंग एरिया कितना है
- प्रति वर्कर वर्किंग एरिया 14.2 क्यूबिक मीटर होना चाहिए
- बैग का रॉ मैटीरियल ज्वलनशील होता है
- इस एरिया में स्कूल बैग बनाने की फैक्ट्री चलाने की अनुमति एक्सप्लोसिव डिपार्टमेंट ने दी थी कि नहीं
- फायर विभाग ने फैक्ट्री चलाने के लिए एनओसी जारी की थी या नहीं
- फैक्ट्री से बाहर निकलने का वैकल्पिक रास्ता था या नहीं
- सुप्रीम कोर्ट और NGT दे चुके हैं रिहायशी एरिया से फैक्ट्रियों को हटाने का आदेश


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/delhi-fire-important-question-who-is-responsible-for-43-deaths-in-t-5479591/

नागरिकता संशोधन बिल पर शिवसेना बोली- नागरिकता मिले, लेकिन वोट देने का अधिकार नहीं


नई दिल्ली। लोकसभा में अमित शाह आज नागरिकता संशोधन विधेयक पेश करेंगे। इधर एनडीए से अलग हुई शिवसेना ने इस बिल पर सवाल खड़े किए हैं। लोकसभा में अमित शाह आज नागरिकता संशोधन विधेयक पेश करेंगे। इधर शिवसेना ने इस बिल पर सवाल उठाए हैं। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल लाने के मूड में है।

ये भी पढ़ें: इसरो इस तारीख को रचेगा इतिहास, निगरानी उपग्रह करेगा लॉन्च

लेकिन क्या यह विधेयक वोट बैंक के लिए ये लाया जा रहा है, अगर इस मंशा से किया जा रहा है तो यह देशहित के लिए सही नहीं है। शिवसेना ने कहा कि नागरिकता जिन्हें दी जाएगी उन्हें वोट बैंक का अधिकार नहीं दिया जाए।

क्या यह देशहित के लिए है या फिर वोटबैंक के लिए- शिवसेना

शिवसेना नेता संजय राउत ने सामना के जरिए लिखा कि यह सच है कि हिंदुओं के पास भारत के अलावा कोई दूसरा राष्ट्र नहीं है। दूसरे देशों में हिंदुओं पर अत्याचार लगातार जारी है। इसके लिए गृहमंत्री अमित शाह और पीएम मोदी को उन देशों के राष्ट्राध्यक्षों से बातचीत कर जुल्म को रोकना चाहिए। शिवसेना ने सामना के संपादकीय में कश्मीरी पंडितों का मुद्दा उठाया है। संपादकीय में लिखा गया है कि कश्मीरी पंडितों को कश्मीर में लाने के लिए सरकार कुछ कर रही है या नहीं।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक का करेगी विरोध, पार्टी ने ऐसे बनाई रणनीति

भारत की अर्थव्यवस्था पर सरकार ध्यान दे-शिवसेना

सामना के संपादकीय में सरकार की सोच पर सवाल खड़े करते हुए लिखा गया है कि क्या भारत में समस्याएं कम है जो हम लोग दूसरे देश के लोगों का तनाव ले रहे हैं। भारत की अर्थव्यवस्था गिरती जा रही है और सरकार नागरिकता मुद्दा उठाकर दूसरे देश के लोगों को भारत की नागरिकता दे रही है। ऐसे में यह सब जानना जरूरी हो जाता है कि क्या यह सब राष्ट्रीय हित का मसला है या फिर वोट बैंक की राजनीति का।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/shiv-sena-raise-on-modi-government-over-citizenship-amendment-bill-5479198/

कांग्रेस संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक का करेगी विरोध, पार्टी ने ऐसे बनाई रणनीति


नई दिल्ली। मोदी सरकार आज लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश करने जा रही है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष इस विधेयक के खिलाफ है। कांग्रेस ने फैसला किया है कि वह नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) का संसद में विरोध करेगी। सोनिया गांधी के आवास पर संसदीय दल की बैठक के बाद यह फैसला किया गया। बैठक के बाद लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, "यह विधेयक हमारे संविधान के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने, संस्कृति, परंपरा और सभ्यता के खिलाफ है।"

ये भी पढ़ें: इसरो इस तारीख को रचेगा इतिहास, निगरानी उपग्रह करेगा लॉन्च

राज्यसभा में भाजपा को लग सकता है झटका!

कांग्रेस ने पहले ही फैसला कर लिया है कि इस बिल का विरोध करने के लिए वह समान सोच वाली पार्टियों से बातचीत करेगी। हालांकि निचले सदन लोकसभा में जहां भाजपा को बहुमत वहां कांग्रेस ज्यादा कुछ नहीं कर सकेगी लेकिन उच्च सदन राज्यसभा में वह इस विधेयक को रोक सकती है।

ये भी पढ़ें: कोलकाता में मासूम बच्ची से दुष्कर्म के दोषी को 10 साल कैद

वाम दल भी इस बिल के विरोध में

वामपंथी पार्टियों ने भी इस बिल का विरोध करने का निर्णय किया है और वे इसमें संशोधन चाहते हैं। पार्टी ने कहा है कि वह बिल से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान का नाम हटाना चाहती है और वह चाहती है कि किसी भी पड़ोसी देश के शरणानार्थी को इस बिल में शामिल किया जाए।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/citizen-amendment-bill-loksabha-congress-sonia-gandhi-oppose-5478932/

दिल्ली अग्निकांड: मौत को सामने देख शख्स ने दोस्त को मिलाया अंतिम फोन...दिया यह आखिरी संदेश


नई दिल्ली। दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी इलाके में एक चार मंजिला इमारत में रविवार को लगी भीषण आग में 43 लोगों की मौत हो गई।

इस हादसे में अब तक 60 से ज्यादा लोगों की जान बचाई गई है। लेडी हार्डिग अस्पताल में भर्ती 10 घायलों में से नौ की मौत हो चुकी है।

वहीं, एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती घायलों में 34 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, इस बीच आग में फंसे एक शख्स की अपने परिवारवालों से अंतिम समय में हुई बातचीत का आडियो खूब वायरल हो रहा है।

फोन पर हुई बातचीत का यह आडियो जो भी सुन रहा है, अपने आप को भावुक होने से नहीं रोक पा रहा है।

 

a3.png

दरअसल, तड़के 5.00 बजे के आसपास जब पूरी दिल्ली नींद के आगोश में डूबी हुई थी, तब आग में फंसा मुशर्रफ अली बिहार फोन मिला रहा था।

असल में मुशर्रफ अली अपने एक पड़ोसी दोस्त से अपनी अंतिम इच्छा बता रहा था। मुशर्रफ न केवल रो रहा था, बल्कि अपने दोस्त से कह रहा था कि कुछ ही देर में वह मरने वाला है और वह उसके बाद उसके परिवार को ख्याल रखे।

इस बीच मुशर्रफ अपने दोस्त को फोन कर कहता है कि...मोनू, भैया मैं आज खत्म होने वाला हूं...चारो ओर धुआं ही धुआं हैं, एक-एक सांस लेना मुश्किल हो रहा है और कुछ ही पलों में आग लगने वाली है यहां।

मुशर्रफ फिर कहता है...मोनू तुम करोल बाग आ जाना गुलजार से नंबर ले लेना...

 

a1.png

फिर दोनों के बीच में यह वार्तालाप होता है...

मोनू: कहां, दिल्ली?

मुशर्रफ: हां..

मोनू: किसी तरह तुम निकलो वहां से...

मुशर्रफ: अब कोई रास्ता नहीं बचा...बस मैं खत्म हूं मैं भैया आज...मेरे बाद मेरे परिवार को ख्याल रखना...इस बीच मुशर्रफ कहता है कि अब सांस भी नहीं आ रहा है।

मोनू: पुलिस, फायर ब्रिगेड किसी नंबर पर कॉल कर बचने का प्रयास करो।


तभी मुशर्रफ का दम घुटने लगता है...मौत का सामने खड़ा देख वह रोने लगता है...और अल्लाह को याद करता है। फिर अचानक से मुशर्रफ की आवाज आने बंद हो जाती है और उसका दोस्त मोनू हेलो—हेलो करता है...

 


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/delhi-anaj-mandi-fire-case-musharaf-ali-last-call-to-his-friend-5478903/

अमरीका के गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेंगे सुपर-30 के आनंद


नई दिल्ली। चर्चित शिक्षण संस्थान सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार इस बार न्यूयॉर्क में गणतंत्र दिवस के पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण होंगे। अमरीका में भारतीय प्रवासियों के सबसे बड़े और पुराने संगठन 'फेडरेशन ऑफ इंडियन एसोसिएशन' 2020 में अपने स्थापना का 50वें साल पूरे होने के अवसर पर यह कार्यक्रम बड़े धूमधाम से आयोजित करने जा रहा है।

यह भी पढ़ें-दिल्ली आग मामला: केजरीवाल सरकार के नाक के नीचे बिना NOC चल रही थी फैक्ट्रियां

फेडरेशन के अध्यक्ष आलोक कुमार ने यहां एक बयान जारी कर कहा, 'हमारा संगठन अगले वर्ष 50वां वर्ष पूरे करने जा रहा है और हमारे संगठन ने पूरी समीक्षा के बाद गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित मेगा कार्यक्रम के लिए आनंद कुमार को आमंत्रित करने का निर्णय लिया है।'

बयान में कहा गया है कि आनंद कुमार ने शिक्षा के क्षेत्र में जिस तरह निर्धन बच्चों के लिए काम किया, उसकी चर्चा पूरी दुनिया में हुई है और इससे हर भारतीय गौरवान्वित महसूस करता है।

यह भी पढ़ें-इमारत में बनी फैक्ट्री का मुख्य दरवाजा बंद था, एक ही गांव के 30 लोग एकसाथ सो रहे थे

बता दें कि हाल ही में आनंद की जीवनी पर बनी फिल्म 'सुपर 30' हिट हुई है। इस फिल्म में आनंद कुमार की भूमिका ऋतिक रौशन ने निभाया है। यह फिल्म अमरीका में भी खूब देखी गई और अब वहां के लोग आनंद कुमार से मिलना और उनकी बात सुनना चाहते हैं। आलोक कुमार ने बताया कि आनंद कुमार ने न्यूयॉर्क में होने वाले कार्यक्रम में शामिल होने की सहमति दे दी है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/super-30s-anand-kumar-participate-in-america-republic-day-celebration-5477717/

दिल्ली फैक्ट्री अग्निकांड पर गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट


गृह मंत्रालय ने दिल्ली में रविवार की अलस्सुबह एक फैक्ट्री में भीषण आग लगने की घटना पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। इस आग में 43 लोगों की जान चली गई और एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हैं। पश्चिमी दिल्ली के रानी झांसी इलाके में शॉर्ट सर्किट की वजह से एक बैग मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्री में आग लग गई। गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस और राज्य सरकार, दोनों से रिपोर्ट तलब की है।

उपहार सिनेमा के बाद दूसरी सबसे बड़ी त्रासदी

संबंधित अधिकारियों को आग की घटना पर 'विस्तृत रिपोर्ट' जमा करने को कहा गया है, 1997 के उपहार सिनेमा आग त्रासदी के बाद राष्ट्रीय राजधानी में इसे दूसरी सबसे बड़ी त्रासदी बताई जा रही है। उपहार सिनेमा आगकांड में 59 लोगों की मौत हो गई थी और 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

अमित शाह के ट्वीट के बाद उठाया ये कदम

सूत्रों के अनुसार- गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को घटना का विवरण और उसके बाद की गई कार्रवाई के साथ मानदंडों का अवज्ञा की जानकारी देने को कहा गया है। यह कदम केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की ओर से एक ट्वीट में घटना को 'भयावह व बहुमूल्य जीवनों का नुकसान' कहे जाने के बाद उठाया गया है। शाह ने संबंधित अधिकारियों को सभी तरह की मदद देने का निर्देश दिया है।

अधिकारियों को तुरंत सहायता का निर्देश

शाह ने घटना के बाद ट्वीट किया कि- "नई दिल्ली में आग दुर्घटना में बहुमूल्य जानों का नुकसान। अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं। संबंधित अधिकारियों को फौरी तौर पर हर संभव सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया है।" मरने वालों में ज्यादातर 14 से 20 साल उम्र के किशोर और नौजवान हैं।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/home-ministry-asks-for-report-on-delhi-factory-fire-5477598/

दिल्ली आग मामला: केजरीवाल सरकार के नाक के नीचे बिना NOC चल रही थी फैक्ट्रियां


नई दिल्ली। दिल्ली के रानी झांसी रोड बाजार में लगी भीषण आग (Delhi Fire ) ने अभी तक 43 लोगों की जिंदगियां ले ली हैं। 50 से ज्यादा लोग घायल हैं। अभी भी रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। बता दें कि मारे गए लोग मजदूर थे जो फैक्ट्रियों में काम करते थे और वहीं सोते थे।

यह भी पढ़ें-इमारत में बनी फैक्ट्री का मुख्य दरवाजा बंद था, एक ही गांव के 30 लोग एकसाथ सो रहे थे

इस भयावक अग्निकांड ने दिल्ली समेत पूरे देश को हिला दिया है। वहीं, अब ये सवाल भी खड़े होने लगे हैं कि बिना एनओसी के रिहायशी इलाके में इतनी बड़ी फैक्ट्री कैसे चल रही थी। साथ ही दिल्ली में ऐसी कितनी फैक्ट्री है जो अवैध रूप से चल रही हैं।

कहां थी एमसीडी

municipal.jpeg

आपको बता दें कि दिल्ली में कहां, कौन सी और किस तरीके की फैक्ट्री चल रही है, इसे जांचने की जिम्मेदारी दिल्ली नगर निगम की होता ही। एमसीडी ही फैक्ट्री या किसी कमर्शियल काम के लिए लाइसेंस मुहैया कराती है। साथ ही उसकी यह भी जिम्मेदारी है कि वह इन पर नजर रखे। अगर इन जगहों पर अवैध काम चल रहा है तो उसे वह सील भी कर सकती है।

दिल्ली पुलिस की जिम्मेदारी

delhi_police.jpeg

दिल्ली में किस तरह की फैक्ट्रियां और उद्योग धंधे चल रही हैं उस पर नजर रखने की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस की भी है। इन मामलों में कई बार वहां के स्थानिय लोग पुलिस से इसकी शिकायत करते हैं। इन शिकायतों को जिम्मेदार एजेंसियों को संज्ञान में लाना पुलिस की जिम्मेदारी बनती है। साथ ही पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर फैक्ट्री मालिक पर तुरंत कार्रवाई कर सकती है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/delhi-fire-case-factories-running-without-noc-under-kejriwal-govt-5476343/

हैदराबाद गैंग रेप: एनकाउंटर पर भिड़े IPS और IAS, एक ने कहा- आपसे इसकी उम्मीद नहीं थी, तो दूसरे ने कहा- आप पूर्वाग्रह से पीड़ित हैं


नई दिल्‍ली। हैदराबाद गैंगरेप और हत्‍या के आरोपियों का एनकाउंटर होने के बाद से देशभर में सियासी हलचल तेज है। इस घटना को जहां एक तबका सही ठहरा रहा है तो वहीं दूसरी ओर लोगों का मानना है कि आरोपियों को अदालत का सामना करना चाहिए था। लेकिन इस मुद्दे पर माइक्रोब्लॉगिंग साइट टि्वटर पर एक आईपीएस और आईएएस अधिकारी के बीच कहासुनी वर्ड्स वार तक पहुंच गई।

Winter Session: CAB पर मोदी सरकार ने कसी कमर, जानें कैसे?

दरअसल, 6 दिसंबर को हैदराबाद पुलिस द्वारा एनकाउंटर के बाद आईपीएस डी रूपा ने ट्वीट किया कि परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्‌ । धर्मसंस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे युगे ॥ इस ट्वीट के जवाब में छत्तीसगढ़ में तैनात IAS अधिकारी अवनीश शरण ने भी ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- ' मैम यह आप जैसे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से अपेक्षित नहीं था। माफ कीजिए!

Delhi Horrific Fire: देखते ही देखते डेथ चैंबर में तब्‍दील हो गया अवैध फैक्ट्रियों का इलाका अनाज

IPS डी रूपा का जवाब- यह आपके पूर्वाग्रह को दर्शाता है

इसके बाद डी रूपा ने एक और ट्वीट कर IAS शरण को जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि यह संस्कृत के विरुद्ध आपके पूर्वाग्रह को दर्शाता है। इसमें धर्म का अर्थ पवित्रता है, धर्म नहीं। कई पुलिस संगठनों के आदर्श वाक्य दुष्टा शिक्षक, शिष्ट रक्षक है जिसका अर्थ वही है जो इस कविता में कहा गया है। और, मैंने इसे किसी भी चीज से टैग या लिंक नहीं किया है। सत्यमेव जयते!

Tripura Gang Rape: 2 महीनों तक गैंगरेप के बाद प्रेमी ने मां के साथ मिलकर युवती को किया

आपको बता दें कि हैदराबाद में पशु-चिकित्सक के सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चार आरोपी शुक्रवार सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में मार गिराया था। साइबराबाद पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनर ने बताया कि चारों आरोपी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए। मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। उसके बाद यह घटना दुनिया भर में चर्चा का और बहस का विषय बना हुआ है। खासकर सोशल साइट्स पर इस बात की सबसे ज्‍यादा चर्चा है।

... तो इस वजह से हुई दिल्‍ली की भीषण अग्निकांड में 43 लोगों की मौत?


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/hyderabad-gang-rape-ips-and-ias-clashed-over-encounter-one-said-not-expected-this-other-said-not-suffering-from-prejudice-5475959/

इमारत में बनी फैक्ट्री का मुख्य दरवाजा बंद था, एक ही गांव के 30 लोग एकसाथ सो रहे थे


नई दिल्ली। रानी झांसी रोड (Rani Jhansi Road) स्थित अनाज मंडी (Anaj Mandi) का अग्निकांड दिल दहला देने वाला है। एक के बाद एक परत दर परत सूचनाएं सामने आ रहीं हैं। बताया जा रहा है कि इमारत में बनी फैक्ट्री का मुख्य द्वारा बंद था। दमकलकर्मियों ने खिड़की का जाल काटकर लोगों को बचाया है। इस फैक्ट्री में एक ही गांव के 30 लोग सो रहे थे। इसमें प्लास्टिक से बैग बनाए जाते थे। इस मकान में बनी फैक्ट्री में बारह से 15 मशीनें लगी हैं।

जिस पांच मंजिला इमारत की बात हो रही है, वह यामीन नाम के शख्स की है। उसने पूरी बिल्डिंग को किराए पर दे रखी थी। सूत्रों की मानें तो यहां काम करने के बाद सभी मजदूर यहीं पर सो जाते थे। इमारत से बाहर निकलने के लिए एक ही रास्ता है। जिस समय आग लगी उस वक्त मुख्य दरवाजे का शटर बंद था और अंदर लोग सो रहे थे। ऐसे में वे लोग भाग भी नहीं सके। अब तक करीब 43 लोगों की मौत दम घुटने से हुई। इस हादसे में कई लोग गंभीर रूप से झुलस गए।

अस्पतालों में अपने संबंधियों को खोज रहे परिजन

फैक्ट्री में काम कर रहे लोगों के रिश्तेदार और स्थानीय लोग घटनास्थल की ओर भाग रहे थे। आग की चपेट में आए लोगों के परेशान परिवार विभिन्न अस्पतालों में अपने संबंधियों को खोज रहे थे। मृतकों और झुलसे लोगों को एलएनजेपी,हिंदू राव और राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया।

नहीं मिल रही है जानकारी

बिहार के बेगूसराय के रहने वाले 23 वर्षीय मनोज के अनुसार उनका 18 साल का भाई इस हैंडबैग बनाने वाली फैक्‍ट्री में काम करता है। मनोज ने कहा कि उनके भाई के दोस्त से उन्हें जानकारी मिली कि वह इस घटना में झुलस गया है। मुझे कोई जानकारी नहीं है कि उसे किस अस्पताल में ले जाया गया है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/factory-main-door-was-closed-when-building-catches-fire-5475698/

अनाज मंडी में लगी आग पर पीएम मोदी और केजरीवाल ने दुख जताया, कहा- कसूरवार पर होगी कार्रवाई


नई दिल्ली। दिल्लीवालों के लिए रविवार का दिन काल बनकर सामने आया। तड़के सबुह के वक्त रानी झांसी रोड की अनाज मंडी में पांच मंजिला इमारत में अवैध रूप से चल रही एक फैक्ट्री में आग लग गई। इस आग में अब तक हताहतों की संख्या बढ़कर 43 हो गई। आग की लपटें इतनी तेज थी कि उस पर काबू पाने के लिए दमकल की 50 गाड़ियां बुलानी पड़ीं।

आग लगने के बाद तड़के पांच बजकर 22 मिनट पर दिल्ली के फायर ब्रिगेड को कॉल किया गया। दिल्ली के फायर सर्विस डायरेक्टर अतुल गर्ग के अनुसार करीब पांच बजे यह आग पांच मंजिला इमारत में लगी। उस वक्त उनमें करीब 60 से 70 लोग सो रहे थे। इनमें से ज्यादातर दिहाड़ी मजदूर व फैक्ट्री में काम करनेवाले लोग थे।

अमित शाह का हरसंभव मदद का निर्देश

उधर, दिल्ली आग पर गृहमंत्री अमित शाह ने मृतक परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने अधिकारियों को फौरन हरसंभव मदद का निर्देश दिया है।

दिल्ली के मंत्री ने कहा- घटना की होगी जांच

दिल्ली सरकार में मंत्री और आम आदमी पार्टी नेता इमरान हुसैन ने कहा इस मामले की पूरी जांच कराई जाएगी। यह घटना को बेहद दर्दनाक है। उन्होंने कहा दोषियों को बक्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि जो भी इसके लिए कसूरवार होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/delhi-government-says-he-will-investigate-the-matter-action-5475073/

दिल्ली: फैक्ट्री में भीषण आग से अब तक 43 लोगों की मौत, मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख का मुआवजा


नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में भीषण आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई। वहीं कई लोग आग में झुलस गए हैं। दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में झुलसे लोगों को भर्ती कराया गया है। अभी तक 50 से ज्यादा लोगों को बाहर निकाला गया है। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग बुझाने के समय एक दमकल कर्मी भी झुलस गया है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना स्थल पर सुबह से नेताओं के पहुंचने का सिलसिला जारी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी घटनास्थल पर पहुंचकर दुख व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने इस अग्निकांड की मजिस्ट्रियल जांच कर एक हफ्ते में रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए हैं और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी।

मृतकों के परिजनों को मुआवजे का ऐलान

वहीं मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। वहीं सभी घायल लोगों को मुफ्त इलाज कराने की घोषणा की है। इधर भाजपा ने भी मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें: इसरो का एक और कदम, 11 दिसंबर को सर्विलांस सैटेलाइट लॉन्चिंग

ये भी पढ़ें: कोलकाता में मासूम बच्ची से दुष्कर्म के दोषी को 10 साल कैद

आग पर काबू पाने की कोशिश

दिल्ली के फिल्मिस्तान इलाके में अनाज मंडी में स्थित पैकेजिंग और बैग फैक्ट्री में आग लगी । आग लगने की वजह का खुलासा नहीं हुआ है। लेकिन आशंका जताई जा रही है शॉर्ट सर्किट की वजह से यह हादसा हुआ है। दमकल कर्मियों को आग पर काबू पाने में काफी दिक्कतें आ रही है। दमकल कर्मियों की मानें तो संकरी गली होने के चलते आग बुझाने में परेशानी हो रही है। अब भी इसमें कई लोग फंसे हुए हैं।

फिर आग को नियंत्रण में करने की कोशिश की जा रही है। साथ ही फंसे लोगों को बाहर निकाले जा रहे हैं। मौके पर जिला प्रशासन समेत बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी मौजूद हैं।

वहीं घटना की सूचना मृतकों के परिजनों को दे दी गई। दिल्ली के अलग अलग अस्पतालों में मृतकों के परिजन पहुंच रहे हैं।

ये भी पढ़ें: CJI बोले, न्याय के नाम पर बदले की कार्रवाई ठीक नहीं


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/fire-broke-out-in-anaj-mandi-rani-jhansi-road-in-many-people-die-delhi-5474809/

राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप


नागपुर। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बनने जा रहे ट्रस्ट का अध्यक्ष संघ प्रमुख मोहन भागवत को बनाने की उठ रही मांगों पर विश्व हिंदू परिषद ने बड़ा बयान दिया है। संघ के प्रचारक रहे और मौजूदा समय विहिप के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने यहां पत्रकारों से बातचीत में ऐसी मांगों को खारिज करते हुए कहा कि ट्रस्ट में संघ प्रमुख मोहन भागवत को नहीं होना चाहिए। हालांकि उन्होंने पत्रकारों को इसको लेकर कोई कारण नहीं बताया।

ये भी पढ़ें: उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के पिता का बयान, हैदराबाद की तरह आरोपियों का हो एनकाउंटर, या फिर फांसी हो

महंत परमहंस महाराज ने संघ प्रमुख को अध्यक्ष बनाने की मांग की

बाद में विहिप के एक राष्ट्रीय पदाधिकारी ने कहा कि "संघ के शीर्ष पदाधिकारी किसी ट्रस्ट का खुद हिस्सा बनने में विश्वास नहीं रखते। संघ में ऐसी परंपरा भी नहीं रही है। संघ प्रमुख के सामने अगर कोई प्रस्ताव रखेगा भी तो वह इन्कार कर देंगे।"

बता दें कि बीते दिनों महंत परमहंस महाराज ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि इसके लिए वह (महंत परमहंस) अनशन पर भी बैठ सकते हैं।

ये भी पढ़ें: CJI बोले, न्याय के नाम पर बदले की कार्रवाई ठीक नहीं

समाज के लोगों को आगे बढ़ाने में विश्वास रखते

विहिप के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जब नागपुर दौरे पर पहुंचे तो पत्रकारों ने इससे जुड़ा सवाल कर दिया। जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि संघ प्रमुख मोहन भागवत को राम मंदिर ट्रस्ट का अध्यक्ष नहीं बनना चाहिए। विहिप के एक पदाधिकारी ने बताया कि "संघ के प्रचारक या वरिष्ठ पदाधिकारी समाज के काम को समाज के लोगों के जरिए ही आगे बढ़ाने में विश्वास रखते हैं। खुद ट्रस्ट में पद लेना उन्हें उचित नहीं लगता।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/ram-mandir-trust-rss-chief-bhagwat-vhp-raise-question-5474741/

हैदराबाद दुष्कर्म : राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने शुरू की मुठभेड़ मामले की जांच


हैदराबाद में एक वेटनरी डॉक्टर युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के सभी चार आरोपी शुक्रवार तड़के पुलिस के साथ कथित तौर पर हुई मुठभेड़ में मारे गए थे। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की एक फैक्ट-फाइडिंग टीम ने इस मामले की जांच शनिवार को शुरू कर दी। हैदराबाद आने के बाद टीम सीधे महबूबनगर शहर पहुंची, जहां उन्होंने सरकारी अस्पताल के शवगृह में जाकर मुठभेड़ में मारे गए आरोपियों के शवों की जांच की।

मृतकों के परिवारों के बयान दर्ज

टीम ने शोवों पर गोलियों से बने घावों की जांच की और शव का परीक्षण करने वाले फोरेंसिक विशेषज्ञों से भी बात की। अस्पताल प्रशासन ने शुक्रवार देर रात को हुए शव परीक्षण का वीडियो भी टीम को दिखाया। आयोग के जांच अधिकारियों ने संबंधित अन्य जानकारियों को प्रशासन से भी प्राप्त किया। उन्होंने बाद में चार मृतकों के परिवारों के बयानों को भी दर्ज किया।

मुठभेड़ वाले स्थान का भी किया दौरा

इसके बाद टीम हैदराबाद से लगभग 50 किलोमीटर दूर शादनगर के पास चटनपल्ली गई, जहां पुलिस के साथ मुठभेड़ में ये चारों आरोपी मारे गए थे। टीम मुठभेड़ में शामिल पुलिस अधिकारियों के बारे में भी जानकारी इकट्ठा करेगी। आयोग ने शुक्रवार को हुई इस घटना का संज्ञान लेते हुए इस पर जांच के आदेश दिए। आयोग ने कहा है कि यह मुठभेड़ एक चिंता का विषय है और इसकी सावधानी से जांच किए जाने की जरूरत है।

संभावित घटना के लिए सतर्क नहीं थे पुलिसकर्मी

आयोग ने महानिदेशक (जांच) को तथ्यों का पता लगाने और घटनास्थल की जांच करने के लिए तुरंत एक टीम भेजने को कहा। आयोग के जांच प्रभाग की टीम का नेतृत्व एक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) करेंगे। मानवाधिकार आयोग का यह भी मानना है कि पुलिसकर्मी, आरोपियों की ओर से अंजाम दी जाने वाली इस तरह की संभावित घटना को लेकर सतर्क और तत्पर नहीं थे, जिस कारण चारों की मौत हो गई।

आरोपियों को अदालत की ओर से दंडित किया जाना था

आयोग ने कहा कि- "जांच के दौरान पुलिस की ओर से इन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था और सक्षम अदालत की ओर से मामले में फैसला सुनाया जाना अभी बाकी था। यदि गिरफ्तार किए गए व्यक्ति वाकई दोषी हैं, तो उन्हें सक्षम अदालत के निर्देशानुसार कानून के मुताबिक दंडित किया जाना था।"


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/hyderabad-misdeed-nhrc-begins-investigation-into-encounter-case-5473945/

हैदराबाद मुठभेड़ के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में 2 याचिकाएं दायर


हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर युवती से दुष्कर्म व हत्या के चारों आरोपियों को पुलिस की ओर से शुक्रवार को मुठभेड़ में ढेर कर दिए जाने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में पुलिस के खिलाफ जांच की मांग करते हुए दो याचिकाएं दायर की गईं। एक याचिका में मुठभेड़ में शामिल पुलिसवालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई है। वहीं दूसरी याचिका में मारे गए चार आरोपियों के परिवारों को मुआवजा देने की मांग की गई है।

सीबीआई से जांच कराने की मांग

पुलिस की इस कार्रवाई के दो पक्ष देखने को मिल रहे हैं। एक ओर जहां इसकी सराहना हो रही है, वहीं दूसरी ओर इसकी आलोचना भी हो रही है। याचिकाकर्ता जीएस मणि ने एक प्राथमिकी दर्ज करने के साथ ही सीबीआई, एसआईटी, सीआईडी या किसी अन्य राज्य के पुलिस अधिकारियों की एक टीम की ओर से की गई मुठभेड़ की जांच करने के निर्देश देने की मांग की है।

सुनियोजित थी मुठभेड़

याचिका में शीर्ष अदालत से आग्रह किया गया कि एक स्वतंत्र जांच एजेंसी को फर्जी मुठभेड़ की जांच (पीयूसीएल बनाम महाराष्ट्र राज्य) के संबंध में निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुसार निर्देशित किया जाना चाहिए। याचिका में आरोप लगाया गया कि यह पुलिस की कथित चूक पर पर्दा डालने के लिए एक सुनियोजित मुठभेड़ थी।

जीवन को खतरे में डालने वाली गंभीर घटना

एक अन्य याचिका में अधिवक्ता मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि पुलिस हिरासत में चार गिरफ्तार लोगों की हत्या कथित तौर पर राजनेताओं की मांग पर की गई। शर्मा ने कहा कि मीडिया ने बिना किसी ट्रायल के अभियुक्तों को तत्काल फांसी देने की मांग करते हुए हंगामा किया, जो भारत के निर्दोष नागरिकों की हत्या की राह खोलता है। साथ ही यह संविधान के अनुच्छेद-21 का घोर उल्लंघन है। याचिका में शर्मा ने कहा, "यह संवैधानिक प्रणालियों और भारतीय नागरिक के जीवन व स्वतंत्रता को खतरे में डालने वाली एक गंभीर घटना है।"

आरोपियों के परिवारों के लिए मुआवजे की मांग

शर्मा ने आरोपियों के परिवारों के लिए मुआवजे की मांग करते हुए कहा कि शीर्ष अदालत को न्याय के हित में पुलिस हिरासत में मारे गए प्रत्येक आरोपी के परिवार के सदस्यों को 20-20 लाख रुपए का मुआवजा देने के लिए एक निर्देश पारित करना चाहिए। शर्मा ने अपनी याचिका में कहा कि "अदालत की नियमित निगरानी में सीबीआई की मदद से जांच करने के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) की नियुक्ति हो, जिसमें सेवानिवृत्त सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश शामिल हों।"


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/two-petitions-filed-in-supreme-court-against-hyderabad-encounter-5473763/

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने मरने से पहले कहा- 'मुझे बचाओ, मैं मरना नहीं चाहतीं'


"मुझे बचाओ, मैं मरना नहीं चाहती, मैं उन्हें फांसी पर लटकते देखना चाहती हूं"। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की 23 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता के ये आखिरी शब्द थे। पीड़िता ने शुक्रवार देर रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ने से पहले अपने परिवार के सदस्यों और डॉक्टरों के सामने ये शब्द कहे। पीड़िता हृदयाघात से बच नहीं सकी और उसे रात 11:40 बजे मृत घोषित कर दिया गया। अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा कि- "वह दर्द में थी। वह खुद को बचाने की गुहार लगा रही थी।"

दुष्कर्मियों को एक महीने में दी जाए फांसी

दुष्कर्म के आरोपियों सहित पांच लोगों की ओर से कथित रूप से जलाए जाने के बाद पीड़िता को एयर एंबुलेंस के जरिए लखनऊ से दिल्ली लाकर सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह 90 फीसदी जल चुकी थी। पीड़िता की मौत के बारे में पता चलने के बाद दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा कि- "मैं केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकारों से अपील करती हूं कि इस मामले में दुष्कर्म करने वालों को एक महीने के अंदर फांसी दी जानी चाहिए।"

प्रियंका ने कहा- हम उसे न्याय नहीं दे पाए

इस मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कई ट्वीट किए। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि- "मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़िता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दे। यह हम सबकी नाकामयाबी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए। सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं, लेकिन ये उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून-व्यवस्था को भी दिखाता है।"

सरकार ने पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी?

पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने दुष्कर्म जैसे अपराधों के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार की कड़ी आलोचना की। उन्होंने अपने अगले ट्वीट में कहा कि- "उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार ने तत्काल पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी? जिस अधिकारी ने उसकी एफआईआर दर्ज करने से मना किया, उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?"

पीटने के बाद लगाई गई आग

पीड़िता पर उन्नाव के सिंधुपुर गांव के बाहर उस समय हमला किया गया, जब वह दुष्कर्म के मामले में होने वाली सुनवाई के लिए रायबरेली की एक अदालत जा रही थी। उसका अपहरण पांच लोगों हरिशंकर त्रिवेदी, राम किशोर त्रिवेदी, उमेश वाजपेयी, शिवम और शुभम त्रिवेदी ने किया था। उसे पीटा गया, चाकू मारा गया और आग लगाकर मरने के लिए छोड़ दिया गया।

पीड़िता ने बयान में लिए पांचों आरोपियों के नाम

इन सबके बावजूद वह खड़ी हो गई और एक किमी तक चलकर एक व्यक्ति के पास पहुंची, जो एक घर के बाहर काम कर रहा था। पीड़िता ने उससे मदद मांगी और उसने खुद पुलिस को फोन किया। इसके बाद उसे नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे लखनऊ के सिविल अस्पताल में रेफर कर दिया गया। वहां प्लास्टिक सर्जरी बर्न यूनिट में भर्ती पीड़िता का बयान दर्ज किया गया। अपने बयान में उसने सभी पांचों आरोपियों के नाम लिए।

पुलिस ने शिकायत पर गौर नहीं किया

दुष्कर्म का आरोपी शुभम जब जमानत पर रिहा हुआ, तो वह वह उसका पीछा करने और उसे धमकी देने लगा। इसके बाद पीड़िता और उसके परिजन स्थानीय पुलिस स्टेशन पहुंचे और आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। आरोप है कि पुलिस ने इनकी शिकायत पर गौर नहीं किया।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/unnao-rape-victim-said-before-dying-save-me-i-don-t-want-to-die-5473452/

NIA ने आईएसआईएस 2 संदिग्धों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया


नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शनिवार को दो आईएसआईएस संदिग्धों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया। संदिग्धों को आईएसआईएस केरल-तमिलनाडु मॉड्यूल मामले में एंजेसी द्वारा गिरफ्तार किया गया था।

दिल्ली में एनआईए के प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवाद-रोधी जांच एजेंसी ने मोहम्मद अजरुद्दीन और शेख हिदायतुल्ला के खिलाफ एर्नाकुलम की एक विशेष एनआईए अदालत में आरोप पत्र दायर किया है। ये आरोप पत्र आईपीसी की कई धाराओं और गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत दायर किया गया है।

यह भी पढ़ें-उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलीं प्रियंका गांधी, बोलीं- CM योगी जिम्मेदारी लेते हुए दें इस्तीफा

एनआईए के अनुसार, अजरुद्दीन इस्लामिक स्टेट समूह के तमिलनाडु मॉड्यूल का मास्टरमाइंड था और उसे इसी साल 12 जून को कोयंबटूर से गिरफ्तार किया गया था। बता दें कि एनआईए ने दोनों आरोपियों को उसी दिन गिरफ्तार कर लिया था।

एनआईए अधिकारियों के अनुसार, अजरुद्दीन श्रीलंका में हाल ही में हुए बम विस्फोटों के पीछे कथित मास्टरमाइंड जहरान हाशिम का फेसबुक मित्र था। उस हमले में 250 से अधिक लोग मारे गए थे। आरोपियों और उनके सहयोगियों ने केरल और तमिलनाडु में युवाओं की भर्ती करने के इरादे से सोशल मीडिया पर आतंकवादी संगठन आईएसआईएस/दाइश की विचारधारा का प्रचार किया था।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने इसी जानकारी के आधार पर इस साल 30 मई को तमिलनाडु के कोयंबटूर में छह आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। एनाआईए प्रवक्ता ने कहा कि जांच के दौरान यह पता चला कि अजरुद्दीन और हिदायतुल्ला 2017 से हिंसक चरमपंथी विचारधारा का प्रचार कर रहे थे।

यह भी पढ़ें-हैदराबाद एनकाउंटरः महिलाओं का अनोखा अंदाज, पुलिस कमिश्नर के पोस्टर का दूध से किया अभिषेक

एनआईए अधिकारियों के अनुसार, अजरुद्दीन मॉड्यूल का नेता था और उसने 'खिलाफाजीएफएक्स' नाम का एक फेसबुक पेज बना रखा था। जिसके जरिए वह आईएसआईएस/दाइश की विचारधारा का प्रचार करता रहा था। आरोपियों ने आईएसआईएस/दाइश के समर्थन में कई गुप्त कक्षाएं भी आयोजित की थी।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/nia-filed-charge-sheet-against-2-isis-suspects-5472875/

सशस्त्र बल झंडा दिवस के मौके पर छोटी बच्ची ने PM मोदी की जैकेट में लगाया झंडा


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को सशस्त्र बल झंडा दिवस के मौके पर जवानों और उनके परिजनों के साहस को सलाम किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस सशस्त्र बल झंडा दिवस के मौके पर हम अपने बलों और उनके परिजनों के अदम्य साहस को सलाम करते हैं। मैं आप सभी से आग्रह करता हूं कि हमारी बलों के कल्याण में योगदान दें।

यह भी पढ़ें-हैदराबाद एनकाउंटर पर CJI बोले, न्याय के नाम पर बदले की कार्रवाई ठीक नहीं

वहीं, एक छोटी लड़की ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जैकेट पर एक झंडा लगाया। उसके बाद उन्होंने सशस्त्र बलों के कल्याण के लिए लड़की की ओर से पकड़े गए एक छोटे दान डब्बे में अपनी ओर से योगदान दिया। इस मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।

 

रक्षा मंत्री ने कहा, 'हम इस देश के सम्मान के लिए लड़ने वाले सशस्त्र बलों के प्रति अपना आभार व्यक्त करें। आप ऑनलाइन लेनदेन के माध्यम से या चेक लिखकर सशस्त्र बल झंडा दिवस कोष में योगदान कर सकते हैं। सशस्त्र बल झंडा दिवस कोष में योगदान को आयकर से मुक्त रखा गया है।'

आपको बता दें कि सात दिसंबर, 1949 के बाद से हर साल इस दिन देश के शहीद जवानों और सीमा की सुरक्षा में लगे सैनिकों को सम्मान देने के लिए सशस्त्र बल झंडा दिवस मनाया जाता है।


Click here to Read full Details Sources @ https://www.patrika.com/miscellenous-india/a-little-girl-pinning-flag-on-pm-modi-on-armed-forces-flag-day-5472351/

Danik Bhaskar Rajasthan Danik Bhaskar Madhya Pradesh Danik Bhaskar Chhattisgarh Danik Bhaskar Haryana Danik Bhaskar Punjab Danik Bhaskar Jharkhand Patrika : Leading Hindi News Portal - Bhopal Patrika : Leading Hindi News Portal - Jaipur The Hindu Nai Dunia Latest News Hindustan Hindi Danik Bhaskar National News Danik Bhaskar Himachal+Chandigarh Patrika : Leading Hindi News Portal - Entertainment Danik Bhaskar Uttar Pradesh Patrika : Leading Hindi News Portal - Astrology and Spirituality Patrika : Leading Hindi News Portal - Mumbai Patrika : Leading Hindi News Portal - Lucknow Nai Dunia Madhya Pradesh News Patrika : Leading Hindi News Portal - Varanasi onlinekhabar.com News 18 Patrika : Leading Hindi News Portal - Miscellenous India Danik Bhaskar Delhi NDTV News - Latest Danik Bhaskar Technology News Danik Bhaskar Health News Patrika : Leading Hindi News Portal - Sports Patrika : Leading Hindi News Portal - Business Patrika : Leading Hindi News Portal - Education Orissa POST Patrika : Leading Hindi News Portal - World Patrika : Leading Hindi News Portal - Bollywood Scroll.in ET Home NDTV News - Top-stories NDTV Khabar - Latest NDTV Top Stories hs.news Bharatpages India Business Directory Moneycontrol Latest News Telangana Today NDTV News - India-news India Today | Latest Stories Danik Bhaskar International News Danik Bhaskar Madhya Pradesh ABC News: International Business Standard Top Stories Patrika : Leading Hindi News Portal - Mobile The Dawn News - Home NDTV News - Special Nagpur Today : Nagpur News Jammu Kashmir Latest News | Tourism | Breaking News J&K Bollywood News and Gossip | Bollywood Movie Reviews, Songs and Videos | Bollywood Actress and Actors Updates | Bollywoodlife.com Danik Bhaskar Breaking News NYTimes.com Home Page (U.S.) NSE News - Latest Corporate Announcements Stocks-Markets-Economic Times NDTV Videos Baseerat Online Urdu News Portal View All
Directory Listing in Job Consultancy in BIHAR Transport Agents, Bulk Carriers and Tran in BIHAR College in UTTAR PRADESH Computer and Internet in PUNJAB Hardware and Software in GUJRAT Health Care in JHARKHAND Institution in WEST BENGAL FOOD AND DRINK in GUJRAT Modicare MSC in CHATTISGARH Abrasives and Allied Products in HARYANA Health Care in RAJASTHAN Cosmetics and Beauty Services in BIHAR Apparel and Clothing in KERALA Hardware and Software in UTTARAKHAND PMKVY Training Centre in ORISSA Doctor in BIHAR Packing Materials and Equipment in GUJRAT Education & Jobs in UTTARAKHAND Hospital in TAMIL NADU Beauty Parlour & Beauty Clinic in WEST BENGAL Education & Jobs in TELANGANA Transport Agents, Bulk Carriers and Tran in KARNATAKA University in RAJASTHAN Courier Services in WEST BENGAL Event Mangement in RAJASTHAN Abrasives and Allied Products in ANDAMAN & NICOBAR Automotive & Transport in MADHYA PRADESH Computer and Internet in MAHARASHTRA Beauty Parlour & Beauty Clinic in CHANDIGARH Hardware and Software in GUJRAT Packing Materials and Equipment in BIHAR Business Services in WEST BENGAL Construction and Real Estate in RAJASTHAN IT FIRM in BIHAR Banquet Halls in BIHAR Job Consultancy in HARYANA Doctor in HARYANA Tour & Travels in MADHYA PRADESH Agriculture, Food and Marine in MAHARASHTRA Job Consultancy in ANDHRA PRADESH FASHION SHOP in MAHARASHTRA Books and Stationery in KERALA Electrical and Electronic in BIHAR PMKVY Training Centre in JHARKHAND IT FIRM in CHANDIGARH School in BIHAR Tour & Travels in Puducherry College in HARYANA Institution in RAJASTHAN Rubber and Rubber Products in GUJRAT